के .रवि ( दादा ) का मध्य रात्रि का  एक अनोखा गणतंत्र उस्तव 


मुंबई।मुंबई बॉलीवुड में रविवार 26 जनवरी के मध्य रात्रि को वरिष्ठ समाज सेवक व वरिष्ठ पत्रकार श्री .के रवि ( दादा  ) ने, इंडिया मीडिया लिंक इवेन्टस मैनेजमेंट के माध्यम से मुंबई के  टाटा कैंसर हॉस्पिटल के बाहर हर वर्ष की तरह इस साल भी थंड से कपकपाते लोगो को एवं कैंसर पीड़ितो को कंबल वितरण का कार्यक्रम किया, इस अवसर पर के रवि (  दादा ) ,के साथ फिल्म ऐक्टर शक्कू राणा,फिल्म प्रोड्यूसर  जॉय भोसले, इस्माईल वारसी,दिपक पड़ंगे,और ऐक्टर राहुल रवि  मैजूद रहे,आपको बता दे कि इंडिया मीडिया लिंक मैनेजमेंट पिछले कई  सालों से इस तरह का सफल कार्यक्रम करताश आ रहा है, के. रवि  ( दादा )  ने कहा कि लोग आमतौर पर कहते हैं कि हजारों लोग ठंड से मर जाते हैं, लेकिन हम कहते हैं कि ऊनी कपड़े और कंबल की कमी के कारण भी  मर जाते हैं। गरीब और असहाय लोग फुटपाथ और सड़क के किनारे खुले आसमान में सोते हैं और ठंड से मर जाते हैं। ये गरीब लोग ठंड की लहरों के दौरान एक-दूसरे के करीब सोते हैं,लेकिन ऐसी परिस्थितियों में कोई बिना कंबल या रजाई के कैसे सो सकता है। वे पूरी रात ठंडी हवा के कारण कांपते हैं और कुछ बूढ़े व्यक्ति इन ढंड के कारण मर भी जाते है, ऐसे लोगो के लिए  आज 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के आधी  रात को हम हर साल इस तरह का उत्सव मनाते है .वो भी सोए हुए पीड़ितों को जगाएं बिना ही इनपर कंबल डालकर उन्हें एक अच्छी तरह का पैकिंग किया हुआ गरम गरम नाश्ता ,उसमें पानी की बोतल और एक आकर्षक झेंडा भी दिया जाता हैं इस कार्यक्रम को सफल बनाने में हमें मुबंई के हमारे हितचिंतकों ने से सरकारी अफसर श्रीआंनद वाग्रालकर , प्रदीप बढये एवम् मशहूर शिवास सैलून के ओनर  शिवा भंडारी जी ने भी सहयोग दिया ।


टिप्पणियाँ
Popular posts
अनमोल विचार और सकारात्मक सोच, हिन्दू और बौद्ध विचार धाराओं से मिलते झूलते हैं।.गुरु घासीदास महाराज जयंती पर विशेष
चित्र
मुख्यमंत्री मोहन यादव के राज्य में अधिकारियों के हौसले बुलंद एसडीएम ने पैरों में जूते पहनने के बाद महिला से जूते के लेंस बंधवाते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो फोटो वायरल इससे लगता है मनुस्मृति शूरू हो रही है।
चित्र
महान समाज सेवक संत गाडगे बाबा की पुण्य तिथि पर विशेष
चित्र
जिला ग्वालियर आयुष अधिकारी ने किया वेलनेस सेंटर का औचक निरीक्षण जांचा पंजी रजिस्टर कई सालों से आयुष प्रभारी पदस्थ हैं सेंटर पर उसी गांव के रहने वाले हैं राजनीतिक नेताओं से संपर्क होने से सेंटर प्रभारी इसलिए करते मनमानी।
चित्र
ग्वालियर।पूर्व डीजीपी यादव की नातिन की हत्या के छह बाल संप्रेक्षण गृह से आरोपी भागे।
चित्र