ग्वालियर।बेसहारा और गरीब मजदूरों के बीच खाने पैकेट बांट रही हैं एस आई सुश्री प्रतिभा

बेसहारा और गरीब मजदूरों के बीच खाने पैकेट बांट रही हैं एस आई सुश्री प्रतिभा
 
ग्वालियर। कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव के लिये पीएम द्वारा चलाये जा रहे लॉकडाउन के दौरान गरीबों के पास काम नहीं है। गरीबों के भूखे रहने की स्थिति में विश्वविद्यालय थाने में पदस्थ एस आई सुश्री प्रतिभा श्रीवास्तव  ने लगातार सुबह और शाम को लगभग 500 पैकेट प्रतिदिन कलेक्ट्रेट , विश्वविद्यालय थाने के आसपास ग्वालियर के इलाके में 250 पैकेट और जिला प्रशासन,  पुलिस अधीक्षक नवनीत भासीन, एडीशनल एसपी, थानाप्रभारी के अनुरोध पर बताये गये इलाकों में 200 से लेकर 300 पैकेट अपनी टीम के साथ बांट रही हैं। प्रतिभा श्रीवास्तव बताया था थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाके में टीकमगढ़ छतरपुर जिले के मजदूर जो गरीब तबके से है वह सुबह काम कर शाम को परिवार के लिऐ खाने के लिये लाते हैं कोरोनावायरस और लाकडाउन की बजाए से झुग्गियों में रह रहे हैं ऐसे लोगों को पुलिस की टीमें खाना बांट रही है जिससे कोई मजदूर गरीब बेसहारा लोग भूखे पेट नहीं सोये। जह हमारे थाना क्षेत्र में हम लोग लागे हुए हैं और जव तक लागे रहेंगे जव लाकडाउन नहीं खुलता और लोग मजदूर मजदूरी करने नहीं जाता। संयुक्त रूप से अभियान चला कर लगभग 1500 पैकेट बेसहारा, गरीबों के बीच वितरित कर रहैं। भरी दोपहरी में कार की डिग्गी में भरकर पैकेट ले जाकर गरीब बस्तियों, सड़क किनारे बैठे और एक शहर से दूसरे शहर जा रहे लोगों के बीच भोजन के पैकेटों वितरण किया जा रहा है।


Comments
Popular posts
डबरा।विद्युत विभाग की लापरवाही एक महीने में उपभोक्ता को तीन बार दिया विल अधिकारी कर्मचारी मचा रहे हैं भ्रष्टाचार अधिकारीयो पर इंटेलिजेंट नहीं दे रही ध्यान।
Image
दतिया। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने ग्राम पालीनूर को दी करोड़ों की सौगातें हर हफ्ते अपनी विधानसभा क्षेत्र को देते हैं विकास कार्य की सौगात, गृह निवास में कोई विकास नहीं घोषणा मात्र।
Image
करैरा।लखीमपुर में हुई किसानों की मृत्यु होने पर उसके परिजनों से मुलाकात करने प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस द्वारा बंद करने के विरोध में धरना दिया राष्ट्रपति, केंद्रीय गृहमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।
Image
डबरा।भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी के कोरोना रक्षक सम्मान पत्र समारोह सम्पन्न ।
Image
डबरा।बाढ़ पीड़ितों के लिए पत्रकारों ने की पहल दिया 1 माह का वेतन ।
Image