ग्वालियर/डबरा। फ्री टाइम मे अधिकारीयो के मन मे रहती है लिखने की जिज्ञासा। मुक्ताकाश की सैर - एएसपी योगेश्वर शर्मा की कलम

मुक्ताकाश की सैर -


मन तो करता है कि कभी कभी मुक्ताकाश में साथ साथ सैर करने जाए,
कभी तितली बन के उड़े तो कभी चिड़िया सा चहचहाये ,
कभी दरख्तों की शाख़ बन घरौंदों की अवलि सजाएं,
तो कभी घने पीपल के पत्तो की तरह समीर संग गुनगुनाये ।
कभी किसी जलधारा के निर्मल तटबंध होकर शीतलता का एहसास करते जाये,
तो कभी लहरों की तरह किलोल करे,खेले औऱ इठलाये ।
कभी श्याम मेघो की घटाओ को रथ बना भुवन भ्रमण कर आये ।
तो कभी नीले अम्बर को कैनवास बना नई तस्वीर गढ़ जाए ।
कभी भास्कर के प्रखर आलोक में समाहित हो स्व को मिटा जाये,
तो कभी रश्मिरथ पर आरूढ़ हो चाँद तारो को घुम आये ।
कभी हाथों में हाथ डाले घूमने जाए औऱ एक दूजे की पलको में कैद हो जाये ।
तो कभी आपस मे फ़ूल औऱ भौरें का खेल सजाए ।
तो आओ पहले अहम व वहम की सफाई कर मन की धरा को निर्मल बनाये ।
फिर परस्पर प्रेम एवं विश्वास के सतरंगी कुसुम बीज लगाये ।
तब तथाकथित व्यस्तता की खतपतवार हटा परस्पर आदर व सम्मान की खाद डालते जाए ।
फिर ऐसे श्रेष्ठ व पवित्र विचारो के जल से सिंचित मुक्ताकाश में ख़्वाब सजाये ।  
                                   --योगेश्वर


टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र