ग्वालियर।अतिथि विद्वानों में दिखा रोष : बोले झेठे शिवराज ,ग्रह मंत्री डा नरोत्तम मिश्रा और झूठे महराज सिंधिया को हराना ही सच्ची श्रद्धांजलि होगी । डा सुजीत सिंह भदौरिया
 अतिथि विद्वानों में अब अपनी नौकरी के लिए होने लगी निराशा : सरकार का रुख उदासीन और तानाशाही फरमान । आत्महत्या कर रहे अतिधि विद्वान ।

 *20 से 25 वर्षों की सेवा देने के बाद मुरझाए हुए हैं चेहरे : अधेड़ से ज्यादा उमर इस सेवा बीताने के बाद अब करने लगे आत्महत्या : मृत अतिथि विद्वान को दी गई श्रद्धांजलि"* 

 *शिवराज और सिंधिया सत्ता के मद में चूर : वादा और इरादा सब झूठ* 

ग्वालियर। ज्योतिरादित्य सिंधिया जी के उत्तरी द्वार फूलबाग चौराहे पर विगत 170 दिनों से अतिथि विद्वान अपने नियमितीकरण की मांग को लेकर आन्दोलन कर रहे हैं। सरकार का कोई नुमाइंदा इनसे मिलने तक नही आया । ये भारतीय जनता पार्टी की लोकतांत्रिक व्यवस्था है । ये वर्तमान सरकार का सत्ता का मद और गुरुर है। 

 *" फिर एक परिवार उजड़ गया : बूढ़े माॅ बाप और  पत्नी तथा दोनो बच्चे (बेटा 12 साल का तथा बेटी 9 साल की) सड़क पर भीख मांगने को मजबूर । वर्ष 2019 से फॉलेन आउट का दंश झेल रहे थे । ये है सरकार का असली चेहरा"* 

 *यह घटना कमलनाथ का गढ़ छिन्दवाड़ा जिले के परासिया तहसील के बड़कुई की है।* 

"अत्यंत दुखद एवं हृदय विदारक घटना हमारे प्रिय साथी ग्रंथपाल डॉ आशीष परमार अपनी फॉलन आउट और बेरोजगारी का दंश झेलते हुए आज उन्होंने अपनी जीवन लीला समाप्त कर लिए।  क्या सरकार का कोई नुमाइंदा बता पाएगा इसकी मौत का जिम्मेदार कौन है? वर्तमान भाजपा सरकार या पुरानी कांग्रेस सरकार । इसी तरह हमारे साथी अतिथि विद्वान जो  फॉलन आउट है अपने जीवन में संघर्ष हारते जा रहा है और दुखी होकर इस तरह कदम उठा रहे हैं । क्योंकि उन्हें लगता है अपने परिवार का लालन पालन करने से असमर्थ है और सरकार ने लाचार कर दिया है। इस स्थिति के लिए भगवान हमारे साथी अतिथि विद्वान डॉ आशीष परमार को अपने श्री चरणों में स्थान दे और उनके परिवार को साहस दे कि वह इस घटना से जल्द से जल्द उभर पाए ।

 *"अतिथि विद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा मध्यप्रदेश द्वारा आन्दोलन स्थल पर दी गई श्रद्धांजलि"* 

दिनांक 12/4/2023 बुधवार को ग्वालियर के फूलबाग चौराहे पर मृत अतिथि विद्वान डॉ.आशीष परमार को श्रद्धांजलि दी गई समस्त साथियों में कारुणिक भाव देखने को मिले । सरकार की इस उदासीनता और हठधर्मिता तथा वादाखिलाफी ने आज हमारे साथी के परिवार को उजाड़ दिया । प्रदेश के समस्त अतिथि विद्वान आज अश्रुपूरित श्रद्धांजलि समर्पित कर दृढ़ निश्चय किए की कुछ हो या ना हो पर अब भारतीय जनता पार्टी की सरकार को हम वोट नहीं देंगे ।

 *अतिथि विद्वानों में दिखा रोष : बोले झेठे शिवराज और झूठे महराज को हराना ही सच्ची श्रद्धांजलि होगी ।* 

इस हृदय विदारक घटना के पश्चात श्रद्धांजलि सभा में पहुंचे समस्त अतिथि विद्वानों में बहुत ही ज्यादा  रोश और आक्रोश देखने को मिला । अतिथि विद्वानों ने कहा किइस झूठी सरकार और झूठे सिंधिया महाराजा डाक्टर नरोत्तम मिश्रा गृहमंत्री,को हराना ही आशीष परमार के लिए हमारे अतिथि विद्वान की सच्ची श्रद्धांजलि होगी ।
टिप्पणियाँ
Popular posts
कांग्रेस व बसपा को फिर झटका चुनाव में मिलेगा भाजपा को फायदा पूर्व विधायक अजब सिंह कुशवाह,पूर्व विधायक लाखनसिंह बघेल पूर्व जिला अध्यक्ष बसपा सुरेश बघेल भाजपा में शामिल।
चित्र
अनमोल विचार और सकारात्मक सोच, हिन्दू और बौद्ध विचार धाराओं से मिलते झूलते हैं।.गुरु घासीदास महाराज जयंती पर विशेष
चित्र
डबरा। दिब्याशु चौधरी बने डबरा तहसील के नय एसडीएम शहर को मिले नए आईएएस अधिकारी।
चित्र
डबरा। नव नियुक्त आईएएस प्रखर सिंह ने एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अपना पदभार संभाला क्या शहर में तत्कालीन आईएएस अधिकारी रही सुश्री रेनू पिल्लेई,डा एम गीता जी जैसे तेजास्वी जैसा रुप दिखा पायेंगे या दोनों नेताओं के इशारे पर काम करेंगे।
चित्र
किसान मजदूर युवाओं के हाक अधिकार की लडाई के लिए बनाया नया यूनियन संगठन -ठाकुर गोपाल सिंह ताऊ