महाराष्ट्र के शिवसेना का मशहूर अख़बार सामना की नई संपादक बनीं रश्मि उद्धव ठाकरे जी . रिपोर्ट : के .रवि ( दादा ) ।



रिपोर्ट : के .रवि (  दादा ) 


मुंबई।मुख्यमंत्री बनने के बाद उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादक पद से इस्तीफा दे दिया था और अब रश्मि ठाकरे जी सामना कि संपादक बनी हैं।उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने के बाद संपादक पद खाली  था ।पर अब पहली बार ठाकरे परिवार की बहू संभालेंगी संपादक का पद सामना अख़बार का उगम  23 जनवरी 1988 को बाल ठाकरे  के हाथो हुआ था  । और वे ही इसके संस्थापक संपादक बने थे. बाल ठाकरे के बाद उद्धव ठाकरे ने सामना का प्रभार संभाला था।जो रश्मि ठाकरे  संपादक बनी हैं इस बदलाव  को आज सामना के संस्करण के पहले पन्ने  पर जाहिर किया गया है।रश्मि उद्धव ठाकरे का सामना का संपादक बनने को बड़े राजनीतिक घटनाक्रम के रूप में भी  देखा जा रहा है. यह पहली बार है जब ठाकरे परिवार की बहू सामना की संपादक बनकर पार्टी में कोई बड़ी जिम्मेदारी संभालेगी ।सामना के फूटनोट में संपादक का नाम रश्मि उद्धव ठाकरे छपा है जबकि संजय राऊत कार्यकारी संपादक हैं. बता दें कि सामना मराठी के साथ हिंदी  में भी  प्रकाशित होता है .जबकि इसके  हिंदी संस्करण की  23 फरवरी 1993 से  शुरुवात हुईं थीं  ।बालासाहेब अपने निधन तक यानी 17 नवंबर 2012 तक सामना में लेख लिख रहे थे । उसके बाद उद्धव ठाकरे  शिवसेना पार्टी के साथ सामना अखबार के संपादकीय जिम्मेवारी  ली थी.जो कि उन्होंने बखूबी से निभाई थी ।वहीं 58 साल की रश्मी ठाकरे जी  ने इस खुशी के मौके पर कहा वे संजय राऊत जी के साथ मिलकर काम करेंगी .


टिप्पणियाँ
Popular posts
डबरा। पुलिस ने गुंडों के खिलाफ चलाया विशेष अभियान , पुलिस शराब की दुकान के सामने खड़ी करें डायल 100 जिससे शराबियों में भी रहेगा पुलिस का खौफ अपराधो पर लगेगा प्रश्न चिन्ह।
चित्र
भोपाल।शिकायतों के आधार पर हटेंगे कर्मचारी तीन वर्ष से एक ही स्थान पर जमे हैं अफसरों के तबादले पर चुनाव आयोग की राहत।
चित्र
ग्वालियर।(9425734503) बहुजन समाज के हितों की लड़ाई के लिए हुआ समतामूलक समाज पार्टी किया गठन, बने राष्ट्रीय अध्यक्ष डा रावण वर्मा ।
चित्र
तनुश्री दत्ता ने आज कंहा नाना पाटेकर मतलब दुसरा आसाराम बापू । रिपोर्ट : के.रवि ( दादा ) 
चित्र
डबरा। बहुजन समाज के वरिष्ठ समाजसेवी दादा कन्हैयालाल मल्होत्रा छोड़ा वाले जी का आकस्मिक निधन समाज को हुई छति।
चित्र