इंदौर।समाज का नेतृत्व करते हुए मीडिया कोरोना की चुनौती का सामना करने के लिये आमजन को करें जागरूक -जनसम्पर्क आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े
कोरोना संकटकाल में मीडिया ने सजग प्रहरी के रूप में सूचनाओं के आदान-प्रदान में निभायी है महत्वपूर्ण भूमिका - संभागायुक्त डॉ. शर्मा, आपदा काल में मीडिया प्रतिनिधियों को जनसम्पर्क विभाग द्वारा दिये गये सहयोग के लिये समवेत रूप से की गई सराहना वेबिनार सम्पन्न

इन्दौर।जनसम्पर्क आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े ने कहा कि मीडिया समाज का नेतृत्व करते हुए कोविड प्रोटोकाल के पालन तथा कोविड अनुकूल व्यवहार को आचरण में लाने के लिये लगातार जागरूक करते रहें। मीडिया ने कोरोना की दोनों लहरों में आमजन को भ्रामक जानकारियों से बचाने तथा जागरूक करने में महती भूमिका निभायी है। इसी तरह का सहयोग देते हुए वे दीर्घकालीन वातावरण बनाने में भी अपने सामाजिक दायित्वों का पूरा निर्वहन करें। डॉ. खाड़े आज संभागीय जनसम्पर्क कार्यालय इंदौर द्वारा आयोजित वेबिनार को सम्बोधित कर रहे थे। यह वेबिनार कोविड अनुकूल व्यवहार - मीडिया की भूमिका विषय पर आयोजित की गई थी। इसमें मीडिया के वरिष्ठजनों के साथ ही संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा भी विशेष रूप से मौजूद थे। वेबिनार में इंदौर जिले के साथ ही संभाग के अन्य जिलों के मीडिया प्रतिनिधि भी ऑनलाइन शामिल हुए। वेबिनार को सम्बोधित करते हुए जनसम्पर्क आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े ने इस आयोजन की सराहना की और इसे जनजागरण के लिये अच्छी पहल बताया। उन्होंने कहा कि इंदौर में कोरोना से निपटने के लिये टीम के रूप में सभी ने मिलजुल कर अनुकरणीय कार्य किये हैं। इंदौर में मीडिया से जुड़े संगठनों ने अपने साथियों की आपदा काल में मदद के लिये सराहनीय प्रयास किये हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर की तुलना में दूसरी लहर ज्यादा गंभीर थी। अनेक समस्याएं आयी, फिर भी सबके एकजुट प्रयासों से उसका सामना किया गया। उन्होंने कहा कि आगामी तीसरी लहर से बचाव के लिये कोविड अनुकूल व्यवहार को अपनाना और कोविड प्रोटोकाल का पालन करना सबसे कारगर माध्यम है। सिंगापुर इसका बेहतर उदाहरण है। उन्होंने कहा कि कोरोना रूपी अंधेरा हमारे सामने है, इस अंधेरे में राह बनाने के लिये जागरूकता के प्रकाश का फैलाव जरूरी है। उन्होंने कहा कि मीडिया का समाज में अत्यंत प्रभाव है, इस प्रभाव का उपयोग करते हुए वे लोगों के मन से कोरोना के प्रति जो डर निकल रहा है और वे प्रोटोकाल का पालन नहीं कर रहे हैं, इसके लिये उन्हें सजग और सावधान करें।
वेबिनार को मुख्य वक्ता के रूप में सम्बोधित करते हुए संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कहा कि कोरोना संकटकाल में मीडिया ने सजग प्रहरी के रूप में आमजन को सूचनाओं के आदान-प्रदान में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। मीडिया ने शासन-प्रशासन का साथी बनकर सहयोग किया है। वे शासन-प्रशासन और आमजन के बीच में सेतु के रूप में रहे हैं। इसी तरह का सहयोग आगामी समय में देने का भी उन्होंने आग्रह किया। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान को जन आंदोलन बनाने में भी मीडिया ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने तीसरी लहर से निपटने के लिये प्रशासन की प्राथमिकता की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमारी अभी प्राथमिकता है कि इंदौर संभाग ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हो जाये। इसके लिये पूरे संभाग में 80 प्लांट ऑक्सीजन निर्माण के लगाये जा रहे हैं। अभी तक बीस प्लांट का कार्य पूरा हो गया है, आगामी 15 अगस्त तक सभी प्लांट का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि आगामी समय में गर्भवती महिलाओं, शिशुओं एवं अन्य बच्चों के कोरोना संबंधी इलाज के लिए बड़ी संख्या में बेड की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने के साथ ही ब्लैक फंगस के इलाज में भी शासकीय अस्पतालों ने बेहतर कार्य किये हैं। इससे आम जन का विश्वास शासकीय अस्पतालों के प्रति बढ़ा है। उन्होंने कहा कि मीडिया आमजन को लगातार जागरूक करते रहें कि वे कोरोना प्रोटोकाल तथा कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करें। जनता को समझाएं कि वे भीड़ भरे क्षेत्रों में नहीं जायें। शादी-पार्टी में जायें तो मास्क लगायें। दो गज की दूरी रखें। सार्वजनिक स्थलों पर विशेष सावधानी रखें।
वेबिनार में मुख्य रूप से सभी वक्ताओं ने इस आयोजन की सराहना की। सभी ने समवेत रूप से कहा कि कोरोना संकटकाल में जनसम्पर्क विभाग ने मीडिया प्रतिनिधियों तथा उनके परिजनों का ध्यान रखा तथा उनकी हर संभव भरपूर मदद की। इसके लिये उन्होंने जनसम्पर्क विभाग का आभार माना।
 इंदौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री अरविंद तिवारी ने अपने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि हमें वर्तमान में बहुत सतर्कता बरतने की जरूरत है। हम अपने आचरण को कोविड संक्रमण से बचाव के लिये अनुकूल बनायें। कोविड अनुकूल व्यवहार को आचरण में लायें। आमजन का शहर में मीडिया पर बहुत भरोसा है। उन्होंने कहा कि प्रिंट तथा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ ही सोशल मीडिया भी जनजागरण के संदेश को प्रसारित करने का कारगर माध्यम बन गया है। शहर में कोरोना लॉकडाउन से छूट मिली है, इसका मतलब यह नहीं है कि उसका बेजा उपयोग किया जाये। स्वतंत्रता को स्वच्छंदता में नहीं बदलें। बड़े आयोजनों पर रोक रहे। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि समाज के सजग प्रहरी बनकर कार्य करें। इस आयोजन के लिये उन्होंने जनसम्पर्क विभाग के प्रयास को सराहनीय बताया।वरिष्ठ पत्रकार श्री कीर्ति राणा ने कहा कि हम सुधरेंगे, जग सुधरेगा, इस ध्येय के साथ सबको व्यवहार करना चाहिये। हर व्यक्ति को कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए दूसरों को भी इसके पालन की सीख देना होगी। उन्होंने सुझाव देते हुये कहा कि आगामी समय में अस्पतालों में मरीजों की जानकारी सीसीटीवी के माध्यम से स्क्रीन लगाकर लगातार परिजनों को दी जाये। सभी अस्पतालों में हेल्प डेस्क स्थापित की जाये। इसके माध्यम से प्रतिदिन हर मरीज की हेल्थ बुलेटिन जारी की जाये।मध्यप्रदेश प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री प्रवीण खारीवाल ने कहा कि जनता को लगातार कोरोना के खतरों से आगाह करते रहना चाहिये। जनता को जागरूक एवं सजग बनाने के लिये स्वयंसेवी तथा सामाजिक संगठनों का भी सहयोग निरन्तर लिया जाये। इस दिशा में प्रयास सतत चलते रहना चाहिये।वरिष्ठ पत्रकार श्री नवनीत शुक्ला ने कहा कि शासन एवं प्रशासन ने कोरोना से निपटने में ईमानदारीपूर्वक कारगर प्रयास किये हैं। उन्होंने कहा कि अब यह प्रयास किए जाना चाहिये कि हर व्यक्ति का टीकाकरण हो जाये। आशंकित तीसरी लहर को देखते हुए गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों के इलाज के लिये आवश्यक संसाधन तेजी से जुटाए जायें।वरिष्ठ पत्रकार श्री राजेश ज्वेल ने कहा कि जनता को कोरोना के साथ रहने की आदत डालना होगी। उन्हें ऐसा तैयार किया जाये, जिससे कि वे लम्बे समय तक कोरोना के साथ सीमित प्रतिबंधों में रह सके। उन्होंने कहा कि सभी को कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिये। वरिष्ठ पत्रकार श्री पंकज मुकाती ने इस अवसर पर कहा कि माना जा रहा है कि तीसरी लहर में सर्वाधिक रूप से बच्चे प्रभावित होंगे। इसको देखते हुए आज जरूरत है कि बच्चों की सुरक्षा के बारे में जागरूकता के लिये विशेष अभियान चले। कार्यक्रम में धार के वरिष्ठ पत्रकार श्री छोटू शास्त्री ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने में टीकाकरण की बड़ी भूमिका है। टीकाकरण के लिये आदिवासी अंचलों में टीकाकरण पर विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने कोरोना के संकट के समय मीडिया प्रतिनिधियों को जनसम्पर्क विभाग द्वारा दिये गये सहयोग के प्रति आभार व्यक्त किया।कार्यक्रम में मीडिया प्रतिनिधि श्री दीपक यादव, श्री लोकेन्द्र थनवार, श्री संजय राठी (खण्डवा) आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये।कार्यक्रम के प्रारंभ में जनसम्पर्क विभाग के संयुक्त संचालक डॉ. आर.आर. पटेल ने वेबिनार के विषय कोविड अनुकूल व्यवहार - मीडिया की भूमिका विषय का प्रवर्तन किया।
Comments
Popular posts
पत्नि ने प्रेमी के संग की पति की हत्या, हत्या के आरोप में दो आरोपियो को किया गिरफ्तार। कोर्ट ने दिया आदेश जव पुलिस ने किया शाक्ति से ढूंढने का काम 1 साल दल आ रहा पेंडिंग में मामला गुमशुदा का कोर्ट करेगा कार्यवाही ।
Image
भोपाल।राजनीति करने वाले नेताओं पर लगा कोरोना कहर। नगरीय निकाय चुनाव पर फिलहाल ब्रेक, कोरोना समीक्षा के बाद होगा निर्णय।
Image
डबरा।कवियों ने कविताओं के माध्यम से मुंशी जी को किया नमन।मुंशी प्रेमचंद जयंती पर काव्य गोष्टी हुई संपन्न ।
Image
डबरा/बिलौआ। प्रधानमंत्री आवास योजना में 7 पटवारी एवं तीन कर्मचारी दोषी अब देखना है क्या दोषियों को ईओडब्ल्यू जांच करेगा इन दोषियों की चल अचल संपत्ति की ।
Image
भोपाल।समय-सीमा में पूरी करें नगरीय निकाय निर्वाचन की तैयारीआयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग श्री सिंह ने समीक्षा बैठक में दिये निर्देश।
Image