भोपाल।जिला, जनपद और ग्राम पंचायत के चुनाव कराने की तैयारी दीपावली बाद चुनाव आयोग कर सकता है घोषणा।
भोपाल । त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला स्तरीय स्टेंडिंग कमेटी बना दी है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी इसके अध्यक्ष होंगे। समिति चुनाव में पारदर्शिता और निष्पक्षता के लिए कदम उठाएगी। चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले समिति की पहली बैठक करने के निर्देश दिए गए हैं।आयोग के सचिव बीएस जामोद ने बताया कि समिति में पुलिस अधीक्षक, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के साथ चुनाव कार्य से जुड़े अधिकारी सदस्य होंगे। मतदान केंद्रों की सूची प्रकाशित होने के पहले समिति की पहली बैठक होगी। इसके बाद जिला निर्वाचन अधिकारी चुनाव से जुड़े किसी भी बिंदु पर चर्चा के लिए बैठक बुला सकेंगे।नगरीय निकायों के आरक्षण का विषय न्यायालय में विचाराधीन होने के मद्देनजर इनके चुनाव इस साल होने की संभावना कम ही जताई जा रही है। यही वजह है कि आयोग ने जिला, जनपद और ग्राम पंचायत के चुनाव कराने की तैयारी की है। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह कलेक्टरों के साथ बैठक कर चुके हैं। निर्वाचन कार्यों से जुड़े अधिकारियों को प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है।चुनाव तीन चरण में कराने की तैयारी है। जिला और जनपद सदस्यों के चुनाव इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन और सरपंच व पंच के चुनाव मतपत्र से कराए जाएंगे। जिला पंचायत के अध्यक्ष पद को छोड़कर सभी पदों के लिए आरक्षण की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों का कहना है कि उपचुनाव के बाद आरक्षण की प्रक्रिया की जाएगी। माना जा रहा है कि दीपावली के बाद आयोग पंचायत चुनाव की घोषणा कर सकता है।
टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
ग्वालियर। 2023मे विधानसभा चुनाव लड़ाने वाले दावेदार प्रत्याशी को कांग्रेस सर्वे के आधार और जीतने वाले दावेदार प्रत्याशी को टिकट देगी । कमलनाथ
चित्र
डबरा।तुलसाबाई को शहर के समाजसेवी तो सहित गणमान्य नागरिकों ने पुष्पांजलि अर्पित कर दी सच्ची श्रद्धांजली।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र