26 नवम्बर को प्रदेश की बाल देख-रेख संस्थाओं और आँगनवाड़ी केन्द्रों में मनेगा संविधान दिवस।
 
26 नवम्बर को प्रदेश की बाल देख-रेख संस्थाओं और आँगनवाड़ी केन्द्रों में मनेगा संविधान दिवस
डबरा। प्रदेश के बच्चों एवं किशोरों में न्याय, समानता, स्वतंत्रता, बंधुत्व की भावना को प्रेरित करने और उनके अधिकारों एवं कर्त्तव्यों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से 26 नवम्बर को प्रदेश की सभी बाल देख-रेख संस्थाओं और आँगनवाड़ी केन्द्रों में संविधान दिवस उत्सव मनाया जायेगा।इस संबंध में महिला-बाल विकास विभाग द्वारा जिला कार्यक्रम अधिकारियों को सुबह 9 से 11 बजे तक बाल देख-रेख संस्थाओं एवं आँगनवाड़ी केन्द्रों के बच्चों एवं किशोर समूहों के साथ संविधान दिवस को उत्सव के रूप में मनाने के निर्देश दिए गए हैं। संविधान दिवस पर कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन द्वारा बच्चों एवं किशोरों को पढ़ने के लिए हिन्दी में भारत का संविधान की प्रस्तावना, 10 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए संक्षिप्त भाषण, बाल देख-रेख संस्था एवं आँगनवाड़ी केन्द्रों में नामांकित छोटे बच्चों के लिए हिन्दी वर्णमाला के माध्यम से संवैधानिक अधिकार एवं कर्त्तव्य की जानकारी दी जायेगी।
टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र