ग्वालियर।(पंचमहलकेसरीअखबार)ई-रिक्शा मिलते ही खुशी से छलक उठीं दिव्यांग प्रमोद की आंखे।

ग्वालियर। (पंचमहलकेसरीअखबार)कोरोना महामारी के चलते परिवार के भरण पोषण के लिये परेशान हो चुके दिव्यांग श्री प्रमोद सिंह भदौरिया को जैसे ही राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना के तहत ई-रिक्शा मिला तो उनकी आंखे खुशी से छलक उठीं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में आय के सभी साधन खत्म हो गए थे जो कुछ बचत करके रखी थी, वह भी लोकडाउन में खत्म हो गई थी। उपर से दिव्यांग होने के कारण मुझे रोजगार नहीं मिल रहा था जिससे जीवन यापन करने में बडी कठिनाइयों का सामना करना पड रहा था।श्री प्रमोद सिंह भदौरिया ने राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना के तहत ई-रिक्शा के लिये सभी कागजी कार्यवाही कर आवेदन किया तथा आवेदन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सिटी सेंटर द्वारा बेरीफाई कर लोन स्वीकृत कर दिया। श्री प्रमोद भदौरिया शारीरिक रूप से दिव्यांग हैं लेकिन उनके हुनर व अनुभव को देखते हुए उन्हें बाल भवन में लगाये गए रोजगार मेले में ईरिक्शा प्रदान किया गया है। अब वह खुशी से अपना व अपने परिवार का भरण पोषण आसानी से कर सकेगें। इसके लिये श्री भदौरिया ने नगर निगम, बैंक व प्रदेश सरकार का धन्यवाद दिया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र