छिन गया मुँह से निवाला आते ही चुनाव का मौसम
 ** छिन गया मुँह से निवाला **
आते ही चुनाव का मौसम,
रहबरों ने बदला पाला,
उड़ा रहे नफ़रतों के गुब्बारें,
सज रहा फिर ज़हर का प्याला।
विकास कोसों दूर रहा,
आम  का निकला दिवाला,
अच्छे दिनों की आस में
छिन गया मुँह से निवाला।
दर दर भटक रहा नौजवान,
झूठ फ़रेब का बोलबाला,
हक़ माँगना गुनाह हुआ,
जड़ दिया मुँह पर ताला।
मज़हब के ढोंगी पहरुओं ने,
धरम के नाम पर धंधा खोला,
स्वर्ग नरक का देकर झाँसा,
भर रहे खुद माया से झोला।
एस. आर. शेंडे,सौंसर, छिंदवाड़ा, मध्यप्रदेश whatsapp = 8103681228
टिप्पणियाँ
Popular posts
डबरा। पुलिस ने गुंडों के खिलाफ चलाया विशेष अभियान , पुलिस शराब की दुकान के सामने खड़ी करें डायल 100 जिससे शराबियों में भी रहेगा पुलिस का खौफ अपराधो पर लगेगा प्रश्न चिन्ह।
चित्र
भोपाल।शिकायतों के आधार पर हटेंगे कर्मचारी तीन वर्ष से एक ही स्थान पर जमे हैं अफसरों के तबादले पर चुनाव आयोग की राहत।
चित्र
ग्वालियर।(9425734503) बहुजन समाज के हितों की लड़ाई के लिए हुआ समतामूलक समाज पार्टी किया गठन, बने राष्ट्रीय अध्यक्ष डा रावण वर्मा ।
चित्र
तनुश्री दत्ता ने आज कंहा नाना पाटेकर मतलब दुसरा आसाराम बापू । रिपोर्ट : के.रवि ( दादा ) 
चित्र
दतिया।दतिया का विकास का रथ अब नहीं रुकेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान, मुख्यमंत्री जी ने रचा इतिहास --डा मिश्रा।
चित्र