छिन गया मुँह से निवाला आते ही चुनाव का मौसम
 ** छिन गया मुँह से निवाला **
आते ही चुनाव का मौसम,
रहबरों ने बदला पाला,
उड़ा रहे नफ़रतों के गुब्बारें,
सज रहा फिर ज़हर का प्याला।
विकास कोसों दूर रहा,
आम  का निकला दिवाला,
अच्छे दिनों की आस में
छिन गया मुँह से निवाला।
दर दर भटक रहा नौजवान,
झूठ फ़रेब का बोलबाला,
हक़ माँगना गुनाह हुआ,
जड़ दिया मुँह पर ताला।
मज़हब के ढोंगी पहरुओं ने,
धरम के नाम पर धंधा खोला,
स्वर्ग नरक का देकर झाँसा,
भर रहे खुद माया से झोला।
एस. आर. शेंडे,सौंसर, छिंदवाड़ा, मध्यप्रदेश whatsapp = 8103681228
टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। डा अम्बेडकर की प्रतिमा को रात्रि में अज्ञात लोगों ने किया खंडित अज्ञात व्यक्तियों के नाम एफआईआर दर्ज,रखी जायेगी नई प्रतीमा- एसडीएम खेमरिया।
चित्र
डबरा।डा अंबेडकर जी की प्रतिमा का अनावरण समारोह 16अक्टूवार 22 गांव सिसगांव में ।
चित्र
ग्वालियर।एसपी ग्वालियर ने सेवानिवृत्त हुए पुलिस अधिकारी व कर्मियों को दी भावभीनी विदाई।
चित्र
झांसी।कांग्रेस ने खेला कार्ड बहुजन नेता ब्रजलाल खाबरी पूर्व सांसद को बनाया उत्तर प्रदेश का प्रदेश अध्यक्ष ।
चित्र
ग्वालियर।बामसेफ, डीएस-4 बसपा के संस्थापक बहुजन नायक मान्यवर कांशीराम साहब जी के 16 वें महापरिनिर्वाण दिवस पर जिला स्तरीय श्रध्दांजलि सभा 9 अक्टूबर 22 को---सतीश मंडेलिया
चित्र