भोपाल/ डबरा।दुनिया में सबसे अमीर है हमारा लोकतंत्र - मंत्री डॉ. मिश्रा ।

"भारतीय लोकतंत्र की चुनौतियाँ और समाधान पर राष्ट्रीय संगोष्ठी"

भोपाल/डबरा।गृह एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि हमारा लोकतंत्र दुनिया का सबसे समृद्ध लोकतंत्र है। संविधान में प्रत्येक बिंदु का प्रमुखता और विस्तार से उल्लेख किया गया है। डॉ। मिश्रा पं. कुंजिलाल दुबे संसदीय विद्यालय द्वारा प्रशासन अकादमी में आयोजित "भारतीय लोकतंत्र की चुनौतियाँ एवं समाधान" विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। विधायक श्री रामेश्वर शर्मा, अपर मुख्य सचिव एवं महानिदेशक संसदीय विद्यालय श्री आई.सी.पी. केसरी, सचिव विधानसभा सचिवालय श्री ए.पी. सिंह भी मौजूद थे।मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि मजबूत नेतृत्व में लोकतंत्र मजबूत होता है। आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत के मजबूत लोकतंत्र को वैश्विक स्तर पर गर्व है। भारतीय लोकतंत्र को मजबूत रखना राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी है। लोकतंत्र में सबसे बड़ी चुनौती परिवारवाद है। हमारी पार्टी एक ऐसी पार्टी है जिसमें परिवारवाद के लिए कोई जगह नहीं है। अन्य पार्टियों में जनता आसानी से बता सकती है कि भविष्य में उनका नेतृत्व कौन करेगा. हमारी टीम के बारे में ऐसी भविष्यवाणी कोई नहीं कर सकता। राष्ट्रवादी सोच के साथ-साथ लोकतंत्र भी सशक्त होगा।डॉ मिश्रा ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष की भूमिका बेहद अहम है. इस समय देश और प्रदेश में विपक्ष पंगु है। विपक्ष अपनी सार्थक भूमिका निभाने के बजाय सोशल मीडिया पर निर्भर हो गया है। लोकतंत्र के सशक्तिकरण के लिए कानूनों के साथ-साथ संसदीय परंपराओं का निर्वहन बहुत महत्वपूर्ण है। कहीं न कहीं हमें इस परंपरा को टूटने से बचाना है।विधायक श्री रामेश्वर शर्मा ने कहा कि लोकतांत्रिक परंपराओं के निर्वहन से देश मजबूत होगा। जब हर कोई इसके सशक्तिकरण के लिए काम करेगा, तो दुश्मनी निश्चित रूप से समाप्त हो जाएगी। लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए जनप्रतिनिधियों की मजबूत भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए।संसदीय विद्यालय के निदेशक डॉ. प्रतिमा यादव ने विद्यालय में संचालित एवं प्रस्तावित गतिविधियों की जानकारी दी। संगोष्ठी में विभिन्न विषयों पर शोध पत्र पढ़े गए। अतिथियों ने "लोकतंत्र की चुनौतियाँ और समाधान" नामक एक पुस्तिका का विमोचन किया। राष्ट्रीय संगोष्ठी में 140 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र