ग्वालियर।ग्वालियर चंबल संभाग में अनुसूचित जाति पर दर्ज प्रकरण वापस लिए जाएं - राजोरिया

ग्वालियर। अनुसूचित जाति जनजाति एक्टोसिटि एक्ट भारत सरकार द्वारा ख़त्म करने की कोशिश में थी इसलिए अनुसूचित जाति जनजाति के लोगों ने भारत बंद का आह्वान किया और भारत बंद  2 अप्रैल 2018 के आंदोलन के दौरान  ग्वालियर-चंबल संभाग में अनुसूचित जाति-जनजाति के तमाम सारे बेकसूर लोगों पर पुलिस प्रशासन द्वारा दर्ज किए गए थे। उक्त प्रकरण वापस लेने की मांग अनुसूचित जाति जनजाति संगठनों का अखिल भारतीय  परिसंघ द्वारा प्रदेश सरकार को जिला प्रशासन के माध्यम से पत्र भेजकर प्रकरण वापस लेने की मांग की है परिसंघ के जिला अध्यक्ष तरुण राजोरिया द्वारा  मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर ग्वालियर चंबल  संभाग के अनुसूचित जाति वर्ग पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग की है। पत्र में बताया गया है कि प्रदेश सरकार द्वारा कुछ लोगों के प्रकरण वापस ले लिए गए हैं लेकिन अभी भी तमाम लोगों के प्रकरण वापस नहीं लिए गए, परेशान के परिसंघ के प्रांतीय प्रवक्ता एडवोकेट जयंतीलाल जाटव, प्रांतीय महासचिव नरेंद्र चौधरी, प्रांतीय सचिव इंजीनियर आशीष रायपुरिया ,जितेंद्र  कासोटिया,उपाध्यक्ष,रमन अंब उपाध्यक्ष, धर्मेंद्र सगर उपाध्यक्ष, शैलेंद्र सिंह उचाड़िया,महासचिव,   बलवंत मिलन कोषाध्यक्ष,   सुधीर कुमार सचिव, जिमी नरवरिया,महासचिव सुधीर कुमार जाटव सचिव विक्रम अहिरवार महासचिव  दीपक दिनकर आदि पदाधिकारियों ने प्रदेश के ऊर्जावान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से सभी अनुसूचित जाति वर्ग पर दर्ज किए गए प्रकरण वापस लेने हेतु शीघ्र आदेश करने का अनुरोध किया है
टिप्पणियाँ
Popular posts
भोपाल।दतिया विधानसभा के ग्रामीण क्षेत्रों में राशनकार्ड,बिजली, पानी ,रोड सड़कें,नालियो के लिए ग्रामीण जनता परेशान- अशोक दांगी बगदा
चित्र
दतिया।सम्यक अभियान संकल्प यात्रा का नौवें दिन, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव दांगी ने कमलनाथ सरकार की बताई उपलब्धियां।
चित्र
डबरा।संभागीय जाटव सुधार समिति द्वारा डबरा जिला बनाओ पर विचार संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह सात मई को
चित्र
भोपाल।मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ की शिवराज सरकार ने मांग नहीं मानी तो भाजपा का हाल कांग्रेस जैसा होगा- शलभ भदौरिया । एम एस बिशौटिया प्रधान संपादक पंचमहल केसरी अखबार 9425734503
चित्र
करैरा मगरोनी। कांग्रेस पार्टी विधायक प्रतिनिधि बनकर जनता कार्यकर्ताओं के साथ कर रहे भेदभाव दीपक अहिरवार,विधायक भी क्षेत्र के दो लोगों के इसरे पर करते हैं काम अभी तक नहीं दिला पाए केसर मरीज को सरकारी सहायता ।
चित्र