अनूपपुर।सुमिता शर्मा ब्यूरो -प्रमुख विभिन्न विभागों के निर्माण कार्यों की कलेक्टर ने की समीक्षा निर्माण एजेंसियों को दिये सख्त निर्देश ।

अनूपपुर।जिले के अधोसंरचना विकास से संबंधित निर्माण कार्य समयबद्धता के साथ गुणवत्ता के अनुरूप पूर्ण करने के लिए प्रतिबद्धता से कार्य करें। निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। उक्ताशय के निर्देश विभिन्न विभागों के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर श्री आशीष वशिष्ठ ने दिए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग अंतर्गत अमगवां पोंड़ी पहुंच मार्ग को 31 मई तक पूर्ण करने के निर्देश दिए तथा कोतमा से केषवाही राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण कार्य के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने खेतगांव से मझौली, ठोड़हा रोड से बसखला पहुंच मार्ग, गौरेला से सिवनी पहुंच मार्ग को तीव्र गति से पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री वशिष्ठ ने अनूपपुर नगरपालिका अंतर्गत सामतपुर तालाब के सौन्दर्यीकरण के कार्य की समीक्षा करते हुए बाउण्ड्रीवाल निर्माण, पेवर ब्लॉक, फेसिंग निर्माण कार्य को 30 जून 2023 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने वर्षा ऋतु प्रारम्भ होने के पूर्व सड़कों के मरम्मत कार्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए।कलेक्टर श्री आशीष वशिष्ठ ने जल संसाधन विभाग अंतर्गत पिपरिया जलाशय, गोहरारी जलाशय, दमेहड़ी जलाशय के भू-अर्जन के प्रकरणों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए तथा जिन जलाशय के टेन्डर की प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है, उन जलाशयों का निर्माण कार्य तीव्र गति से पूर्ण करने के निर्देश दिए।कलेक्टर ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजनांतर्गत प्रगतिरत सड़कों के निर्माण कार्य की समीक्षा की। उन्होंने कोतमा व्हाया लहसुई मार्ग के निर्माण कार्य पूर्ण नही होने पर संबंधित ठेकेदार के विरूद्ध जुर्माना अधिरोपित करने के निर्देश दिए। उन्होंने ए.व्ही. इन्फ्रा और दिव्या इन्टरप्राईजेज द्वारा सड़क निर्माण कार्य का टेन्डर लेने के बावजूद भी निर्माण कार्य शुरु नही करने पर नाराजगी व्यक्त की एवं 10 मई तक ठेकेदार से कार्य प्रारम्भ करवाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जनजातीय कार्य विभाग की समीक्षा करते हुए जिले में चल रहे माडल छात्रावास, आदिवासी कन्या छात्रावासों के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर विषेष ध्यान दिए जाने तथा गुणवत्ता में किसी भी तरह की लापरवाही मिलने पर दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही किए जाने के निर्देष दिए। कलेक्टर ने छात्रावासों के निर्माण कार्यों के गुणवत्ता के साथ ही पेन्टिंग की क्वालिटी उच्च गुणवत्ता के रखने के निर्देष दिए। बैठक में आदिवासी छात्रावास बेनीबारी, करपा, गौरेला, जरियारी, सकरा, दुधमनिया, मनौरा, पटनाकला, बिजुरी, देवगवां, बम्हनी, पयारी नं. 01, परासी, लतार, कोठी, निगवानी आदि के कार्यों की समीक्षा की गई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि छात्रावास, आश्रमों में गुणवत्तायुक्त सामग्री का क्रय किया जाए। उन्होंने छात्रावास, आश्रमों को आदर्ष बनाने के भी निर्देष दिए। उन्होंने छात्रावास, आश्रमों में स्मार्ट टीव्ही, स्पोर्ट्स सुविधा, पढ़ने एवं रहने की सुविधा के स्थानों को आकर्षक बनाने के संबंध में अधिकारियों को निर्देष दिए। कलेक्टर ने सीएम राईज के स्कूलों की समीक्षा करते हुए संबंधित प्राचार्यों को सीएम राईज स्कूल में समस्त आवष्यक व्यवस्थाएं सुनिष्चित करने के निर्देश दिए।कलेक्टर ने ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने ग्रामीण यांत्रिकी सेवा द्वारा खनिज मद से किए जा रहे रपटा, स्टाप डेम, भवन निर्माण कार्यो को निर्धारित समयावधि में पूर्ण करने के निर्देष दिए। बैठक में उन्होंने मनरेगा अंतर्गत विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने रुरबन मिषन के तहत खेल मैदान, आदिवासी कन्या छात्रावास, आश्रम, बैडमिंटन हाल, रेमेडियल क्लासरूम, छात्रावास के कार्यों की भी समीक्षा की तथा ठेकेदारों से निर्धारित समयावधि में कार्यों को पूर्ण कराने के निर्देश दिए।कलेक्टर ने सर्व शिक्षा अभियान अंतर्गत बाउण्ड्रीवाल, शाला भवन के प्रगतिरत निर्माण कार्यों व मनरेगा के तहत पांच बाउण्ड्रीवाल के निर्माण कार्य व जिला खनिज मद के तहत प्रगतिरत कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देष दिए। उन्होंने ब्रिज कार्पोरेषन द्वारा निष्चित समयावधि से अधिक समय होने पर भी निर्माण कार्यों को पूर्ण नही किए जाने तथा संबंधित ठेकेदारों के विरूद्ध कोई कार्यवाही नही करने पर नाराजगी व्यक्त की।

टिप्पणियाँ