राजनगर -बहनों को पहले लाडली बहन योजना के लाभ से रोका बाद में निकाल दिया।
श्रीमती सुमिता शर्मा ब्यूरो प्रमुख अनूपपुर 
राजनगर- नगर परिषद बनगवां की प्राचीर से भ्रष्ट कर्मो की इतनी बड़ी बिसात खोद दी गयी है जिसको पाट पाना कतई सम्भव नजर नहीं आ रहा है।विदित हो कि लगभग आधे महीने से नगर परिषद बनगवां के दफ्तर के बाहर पूर्व नगर परिषद दैनिक श्रमिको का सत्याग्रह आंदोलन चल रहा है।इन दैनिक श्रमिको में कुछ माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी की लाडली बहने भी शामिल है जो नगर परिषद बनगवां के दफ्तर के बाहर सत्याग्रह कर रही है।
सीएमओ में बहनों को लाडली योजना के लाभ से वंचित रखा।
जिस वक्त लाडली बहन योजना के पंजीकरण की प्रक्रिया चल रही थी उस वक्त उक्त दैनिक श्रमिक भी नगर परिषद बनगवां में कार्यरत थे। उस वक्त उनके ऑफिशियल वाट्सप समूह में उन दैनिक श्रमिको को लाडली बहन योजना के लिए पंजीकरण न करवाने का निर्देश सीएमओ राजेन्द्र कुशवाहा ने दिया था।
विदित हो कि उन बहनों ने सीएमओ की बात मान कर लाडली बहन योजना का पंजीकरण नहीं करवाया और चंद महीनों बाद ही उनके कार्य से पृथक किए जाने का आदेश आ गया।
लाडली बहने न घर की न घाट की स्थिति में: कौन देगा सहारा ।
एक तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रदेश की बहनों को लुभाने के लिए लाडली बहन योजना का शुभारंभ किया वही दूसरी तरफ उन्ही के शासन के अधीन कार्यरत सीएमओ द्वारा इन बहनों को योजना का लाभ लेने से वंचित कर दिया गया।
अब मामा की ये लाडली बहने कहीं की नहीं रह गई है। न नौकरी है न ही योजना का लाभ।
टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर।चयनित शिक्षक संघ वर्ग एक के शिक्षकों ने दिया कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पटवारी को ज्ञापन
चित्र
जिला ग्वालियर आयुष अधिकारी ने किया वेलनेस सेंटर का औचक निरीक्षण जांचा पंजी रजिस्टर कई सालों से आयुष प्रभारी पदस्थ हैं सेंटर पर उसी गांव के रहने वाले हैं राजनीतिक नेताओं से संपर्क होने से सेंटर प्रभारी इसलिए करते मनमानी।
चित्र
अनमोल विचार और सकारात्मक सोच, हिन्दू और बौद्ध विचार धाराओं से मिलते झूलते हैं।.गुरु घासीदास महाराज जयंती पर विशेष
चित्र
महान समाज सेवक संत गाडगे बाबा की पुण्य तिथि पर विशेष
चित्र
मुख्यमंत्री मोहन यादव के राज्य में अधिकारियों के हौसले बुलंद एसडीएम ने पैरों में जूते पहनने के बाद महिला से जूते के लेंस बंधवाते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो फोटो वायरल इससे लगता है मनुस्मृति शूरू हो रही है।
चित्र