किसानों को उनकी उपज का मूल्य चुकाया है ना कि उन्हें कोई राहत दी है ।केन्द्रसे मिली राशि वितरित कर मुख्यमंत्री झूठी वाह-वाही कर रहे हैं-पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ


भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ जी ने कहा है कि जो राशि देने के लिए केन्द्र सरकार बाध्य है उसे बांटकर झूठा प्रचार कर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान प्रदेश की जनता को गुमराह कर रहे हैं। श्री नाथ ने कहा कि किसानों से समर्थन मूल्य पर दस हजार करोड़ रुपए की राशि देना राहत नहीं है बल्कि किसानों द्वारा अपनी मेहनत से जो फसल उपजाई है जिसकी खरीदी गई है उसका मूल्य सरकार ने चुकाया है उन्हें कोई खैरात नहीं दी है। यह तो हर राज्य सरकार का फर्ज है। इसमें किस बात की तारिफ है ? यह राषि केन्द्र सरकार के द्वारा दी जाती है और देश के सभी राज्यों को यह मिलती है। श्री नाथ ने कहा की ’’मैं आज भी इस बात पर कायम हूँ कि जब कांग्रेस सत्ता में आयी थी तब प्रदेष की वित्तीय स्थिति बेहद खराब थी, जिसकी पुष्टि स्वयं भाजपा सरकार मे वित्त मंत्री रहे जयंत मलैया ने भी की थी।’’ पूर्व मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा की झूठ बोलकर जनता को गुमराह करना भाजपा का असली चरित्र है। उन्होंने कहा कि 16 हजार करोड में से 10 हजार करोड़ समर्थन मूल्य पर किसानों से उनकी उपज खरीदी गई है इसके अलावा 3 हजार करोड़ से अधिक की राशि केन्द्रीय योजनाओं के मद की है जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, मध्यान्ह भोजन योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना आदि शामिल है। श्री नाथ ने कहा की यह राशि केन्द्र सरकार द्वारा सभी राज्यों को दी जाती है जो एक संवैधानिक व्यवस्था है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गई संबल योजना में भाजपा कार्यकर्ताओं के नाम जोड़कर उन्हें फायदा पहुंचाया जा रहा था। गरीबों के नाम पर अपात्र लोगों को लाभ मिल रहा था। इस योजना का नाम बदलकर नया सवेरा करके कांग्रेस सरकार ने इसकी सूची का सत्यापन किया और उसमें सुधारकर अपात्र लोगों को हटाने का काम किया। योजना में कांग्रेस सरकार ने 813 करोड़ की राशि पात्र गरीबों को दी गयी थी जिसमें अंत्येष्टि, दुर्घटना मृत्यु, अपंगता आदि शामिल है, जबकि भाजपा सरकार नें मात्र 340 करोड़ ही अपने पूर्व कार्यकाल में वितरित की थी। श्री नाथ ने कहा बड़े दुख की बात है कि भाजपा ने फिर से उन सभी अपात्रों को जोड दिया जो भाजपा के लोग हैं। इससे सरकार के खजाने पर करोड़ों का बोझ पड़ेगा। श्री नाथ ने कहा की जहां तक खाली खजाने की बात है, मैं आज भी इस बात पर कायम हूँ। उन्होने कहा कि अपने हितों को साधने के लिये किस तरह प्रदेश का बेड़ा गर्क किया गया। डेढ़ साल के कार्यकाल में हमारा लगभग समय प्रदेश की खराब वित्तीय स्थिति कों संवारने में लगा। लगभग 2 हजार करोड़ की ऐसी योजनायें थी जिनका कोई बजट प्रावधान नहीं था, सिर्फ चुनाव जीतने के लिये षिवराज सरकार ने झूठी घोषणायें कर दी थी। श्री नाथ ने कहा करोड़ों रूपये की उधारी भी कांग्रेस सरकार ने चुकायी। अगर खाली खजाना नहीं था तो शिवराज जी बताए उन्होंने आचार संहिता के दौरान खुले बाजार से कर्ज क्यों लिया था। पूर्व मुख्यमंत्री नें कहा कि शिवराज ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्हें अपने प्रदेश की स्थिति का कोई ज्ञान नहीं है और वे सिर्फ झूठे प्रचार के जरिए अपनी तारिफ के कसीदे पड़ते रहते है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा सरकार में फर्क यह है कि हमारी सरकार काम करने वाली सरकार थी और भाजपा की सिर्फ बातें करने वाली सरकार है। प्रदेष की जनता इस सच्चाई को जानती है। वर्ष 2018 के चुनाव में भी उसने सच्चाई का साथ दिया था, इस बार भी उपचुनाव में वह सच्चाई के साथ खड़ी होगी।


Comments
Popular posts
हेमंत सिंह कुशवाहा को कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश सचिव बनाने पर जोर दार किया स्वागत दी बधाई।
Image
क्षेत्रीय जनसमस्याओ को लेकर नायव तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा अगर जनसमस्याओ निराकरण नहीं हुआ तो अर्धनग्न प्रदर्शन किया जाएगा---राजोरिया
Image
महर्षि वाल्मीकि जयंती मनाई -राजोरिया
Image
ग्वालियर।प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना में लापरवाही पड़ी भारी कलेक्टर श्री सिंह ने डबरा सीएमओ को किया निलंबित, क्या गारंटी है कि भदौरिया लापरवाही नहीं करेंगे । नगरपालिका डबरा में ऊपर से लेके नीचे तक भ्रष्टाचार चल रहा है कलेक्टर कराया जांच ।
Image
डबरा।विद्युत विभाग की लापरवाही एक महीने में उपभोक्ता को तीन बार दिया विल अधिकारी कर्मचारी मचा रहे हैं भ्रष्टाचार अधिकारीयो पर इंटेलिजेंट नहीं दे रही ध्यान।
Image