जनगणना फार्मेट में ओबीसी का कॉलम जोड़कर ओबीसी की जनगणना को लेकर कलेक्ट्रेट शिवपुरी के सामने दिया धरना।
अन्य ओबीसी वर्ग के संगठन एवं नेता नहीं दे रहे साथ क्यो ,

शिवपुरी। ओबीसी महासभा के नेतृत्व में युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष युवा मोर्चा गिर्राज सिंह दूल्हारा ने बताया कि संविधान के अनुच्छेद 340 के परिपालन में अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए गठित आयोगों (काका कालेलकर आयोग, मंडल आयोग व मध्य प्रदेश रामजी महाजन आयोग) द्वारा अन्य पिछड़ा वर्ग की जनगणना कराये जाने बावत् अनुशंसाएँ की गई हैं। तदनुसार इस हेतु संसद में बनी सहमति के आधार पर जनगणना 2011 में पृथक से अन्य पिछड़ा वर्ग के आँकड़े एकत्र करने प्रयास किए गए किन्तु आँकड़े जारी नहीं किए गए।  कई सालों से प्रतिमाह ज्ञापन देकर जनगणना 2021 के फॉर्मेट में ओबीसी का कालम जोड़ने के शासन को बताता गया है। लेकिन पूर्व की भाँति इस बार भी जनगणना फार्मेट में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) का कॉलम नहीं है। फलस्वरूप ओबीसी वर्ग की जनसंख्या तथा उसकी परिस्थितियों का आकलन नहीं हो पायेगा। निवेदन  है कि जनगणना 2021 के फॉर्मेट में कालम 13 में ओबीसी के लिए 3 और अन्य के लिए 4 लिखा जावे। वही राष्ट्रीय कार्यलय सह प्रभारी दिनेश कुमार ने बताया कि हाल ही में मध्यप्रदेश के गुना जिले में स्थित एक 40 वर्ष पुराने ऐतिहासिक मार्ग का नाम  देवी लोकमाता अहिल्याबाई होलकर से बदलकर राजनैतिक साजिश के तहत मध्यप्रदेश शासन में मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया जी के दादा जी के नाम पर घोषित कर दिया है जो कि अति निंदनीय कार्य है। यह शासन और प्रशासन का ओबीसी समाज के महापुरुषों के प्रति द्वेष और तिरष्कार की भावना का प्रमाण है यह पूरे ओबीसी समाज की आस्था का अपमान है। इससे ओबीसी समाज की भावना को ठेस पहुंची है।इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेश धाकड़, कोषाध्यक्ष अमरचंद धाकड़, वसाक्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमल किशोर कोड़े, होतम बघेल, प्रदेश महिला अध्यक्ष सीमा शिवहरे, अपाक्स जिला अध्यक्ष दुबे जी बाथम, ओबीसी फ्रंट के जिला अध्यक्ष रामस्वरूप बघेल, बबीता राठौर, नेपाल बघेल, अनिल कुशवाह, एस एस धाकड़, जुगल धाकड़, प्रकाश रावत, दौलतराम धाकड़, अवदेश धाकड़, हाकिम यादव, दामोदर बैरागी अन्य साथी  उपस्थित रहें।

ओबीसी महासभा की प्रमुख मांगे निम्न है:-

1. जनगणना फॉर्म में ओबीसी का कॉलम जोड़कर ओबीसी समाज की जातिगत  जनगणना 
करावे।

2. जनगणना - 2021 में ओबीसी वर्ग की जातिगत जनगणना कराकर जनसंख्या आंकड़े जारी 
करावे।
3. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आर एस पटेल राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार सेना के ऊपर राजद्रोह का 
मुकदमा दर्ज किया है उनका मुकदमा केस वापस लिया जावे।
4. मध्यप्रदेश के गुना जिले में लोकमाता अहिल्याबाई होलकर मार्ग का नाम परिवर्तित न कर 
यथावत रखा जावे।
5. देश में ओबीसी समाज के महापुरुषों के नाम राष्ट्रीय राजमार्ग, राष्ट्रीय धरोहर, स्मृति चिह्न और  देश के विकास में ओबीसी महापुरुषों के योगदान को भुलाया न जाकर, उनका सामान किया जावे।
टिप्पणियाँ
Popular posts
कांग्रेस व बसपा को फिर झटका चुनाव में मिलेगा भाजपा को फायदा पूर्व विधायक अजब सिंह कुशवाह,पूर्व विधायक लाखनसिंह बघेल पूर्व जिला अध्यक्ष बसपा सुरेश बघेल भाजपा में शामिल।
चित्र
अनमोल विचार और सकारात्मक सोच, हिन्दू और बौद्ध विचार धाराओं से मिलते झूलते हैं।.गुरु घासीदास महाराज जयंती पर विशेष
चित्र
डबरा। दिब्याशु चौधरी बने डबरा तहसील के नय एसडीएम शहर को मिले नए आईएएस अधिकारी।
चित्र
डबरा। नव नियुक्त आईएएस प्रखर सिंह ने एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अपना पदभार संभाला क्या शहर में तत्कालीन आईएएस अधिकारी रही सुश्री रेनू पिल्लेई,डा एम गीता जी जैसे तेजास्वी जैसा रुप दिखा पायेंगे या दोनों नेताओं के इशारे पर काम करेंगे।
चित्र
किसान मजदूर युवाओं के हाक अधिकार की लडाई के लिए बनाया नया यूनियन संगठन -ठाकुर गोपाल सिंह ताऊ