भोपाल।जान बचाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकतासभी को मिले अच्छे से अच्छा उपचार, आई.सी.यू. बेड्स बढ़ाए जाएँ, गरीबों को निःशुल्क राशन मिलता रहे, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की
भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित हुआ है। हमें कुछ और दिन सख्ती करके संक्रमण की चेन को पूरी तरह तोड़ना है। लोगों की जान बचाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है। सभी जिलों में कोरोना का अच्छा से अच्छा इलाज सुनिश्चित करना है। आई.सी.यू. बेड्स की संख्या बढ़ाई जाये। शादियाँ आगे बढ़ाई जायें। अंतिम संस्कार में सीमित व्यक्ति शामिल हों। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी जिलों में कोरोना के दौरान हर गरीब को निःशुल्क राशन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।
मुख्यमंत्री श्री चौहान बुधवार को निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सभी जिलों से प्रभारी मंत्री, कोरोना के प्रभारी अधिकारी, कलेक्टर्स, पुलिस अधीक्षक आदि उपस्थित थे।
ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन पर्याप्त
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शन आदि पर्याप्त मिल रहे हैं। जहाँ-जहाँ आवश्यक हो बेड्स की संख्या बढ़ाई जाये।
गड़बड़ करने वालों को न छोड़ें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कुछ स्थानों से दवाओं, इंजेक्शन आदि की कालाबाजारी की शिकायतें आ रही हैं, यह हैवानियत है। गड़बड़ करने वालों को छोड़ा न जाए, उन पर सख्त कार्रवाई करें। निजी अस्पताल मरीजों से अधिक शुल्क न वसूलें, यह सुनिश्चित किया जाए।
एम्बुलेंस की दरें निर्धारित
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए एम्बुलेंस की दरें निर्धारित कर दी गई हैं। यह सुनिश्चित किया जाए कि निर्धारित दर पर ही मरीजों को एंबुलेंस उपलब्ध हों।
साप्ताहिक नए प्रकरणों में कमी
प्रदेश में कोरोना के साप्ताहिक नए प्रकरणों में उल्लेखनीय कमी आई है। प्रदेश में 28 अप्रैल की स्थिति में कोरोना के साप्ताहिक नए प्रकरण 91 हजार 354 थे, वहीं 5 मई की स्थिति में ये  घटकर 86 हजार 820 हो गए हैं। प्रदेश की साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 20.3% है।
89 हजार 144 नए सक्रिय प्रकरण
प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 89 हजार 144 हैं।  पिछले 24 घंटों में 12 हजार 319 नए प्रकरण आए हैं, वहीं 9,643 स्वस्थ हुए हैं। प्रदेश की रिकवरी रेट 84.7% तथा मृत्यु दर 1% है।
12 ज़िलों में 200 से अधिक नए प्रकरण
प्रदेश के 12 जिलों में 200 से अधिक कोरोना के नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 1817, भोपाल में 1579, ग्वालियर में 1174, जबलपुर में 826, उज्जैन में 355, रीवा में 341, शिवपुरी में 328, रतलाम में 308, धार में 252, सागर में 236, सिंगरौली में 232 तथा सतना में 231 कोरोना के नए प्रकरण आए हैं।
 
टिप्पणियाँ
Popular posts
भितरवार (रामकुमार श्रीवास्तव संवाददाता)दो नाबालिग बच्चों को खेलते खेलते मिला खजाना, छीन ले गई महिला पुलिस को दी जानकारी पुरातत्व विभाग करेगा जांच।
चित्र
ग्वालियर।स्टाफ नर्सों की बड़े पैमाने पर भर्ती घोटाले की जांच एवं डीन पर एससी-एसटी एक्ट की कार्यवाही करने की मांग को लेकर संभागीय आयुक्त ग्वालियर को अजाक्स संघ ने दिया ज्ञापन ।
चित्र
दिल्ली।(एम एस बिशौटिया /रामकुमार श्रीवास्तव)दिल्ली पहुँची अपर्णा यादव, जेपी नड्डा और सीएम योगी आज दिलाएंगे सदस्यता भाजपा की सदस्यता चुनाव मैदान में उतरेंगे।
चित्र
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट बेंच ग्वालियर का बड़ा फैसला- पॉलिटेक्निक कॉलेजों में लेक्चरर-प्रोफेसरों की गेट 2020 एग्जाम से नियमित भर्ती विज्ञापन एवं भर्ती संबंधित नियम मध्यप्रदेश राजपत्र पर भी रोक लगाई।
चित्र
डबरा।शासकीय धनराशि का दुरूपयोग भारी पड़ा, दो पूर्व सरपंच जायेंगे जेल।
चित्र