भितरवार।सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक ने बच्चों के नाम से जॉब कार्ड बनाकर सरकार को लगाया चूना, ईओडब्ल्यू ने दर्ज की एफआईआर दर्ज। लेकिन पुलिस ने नहीं किये गिरफ्तार क्यो ?
 सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक ने बच्चों के नाम से जॉब कार्ड बनाकर सरकार को लगाया चूना, ईओडब्ल्यू ने दर्ज की एफआईआर दर्ज। लेकिन पुलिस ने नहीं किया गिरफ्तार क्यो।

भितरवार। ग्राम पंचायत किठौदा गांव के सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने भ्रष्टाचार व धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज की है, इन्होंने बच्चों के दस्तावेज पर फर्जी मस्टर रोल व जॉबकार्ड बनाकर शासन को हजारों रुपए का चूना लगाया। इस मामले में एक शिकायत ईओडब्ल्यू को की गई जिस पर जांच के बाद यह मामला दर्ज किया गया है। भ्रष्टाचार व धोखाधड़ी की घटना भितरवार तहसील के किठौदा गांव की है।भितरवार सर्कल के किठौदा में रहने वाले अशोक सिंह पुत्र जानकरी प्रसाद और कमल सिंह पुत्र नारायण सिंह जाटव ने ईओडब्ल्यू विभाग में शिकायत की थी कि भितवार में जॉबकार्ड के नाम पर हजारों रुपए का घपला कर शासन को आर्थिक क्षति पहुंचाई गई है। कई ऐसे लोगों के जॉबकार्ड बना दिए गए जो मजदूरी करने गए ही नही। इतना ही नहीं 18 साल से कम उम्र के नाबालिगों के नाम से भी मस्टर रोल और जॉब कार्ड बनाकर शासन को चूना लगाया गया है। उसने जब सरपंच के सामने विरोध किया तो उसकी बात को अनसुना कर दिया गया। जब सुनवाई नहीं हुई तो उनके द्वारा ईओडब्ल्यू में शिकायत की गई। जब ईओडब्ल्यू की टीम ने जांच की तो पता चला कि सचिव, सरपंच और रोजगार सहायक की मिलीभगत से नाबालिग बच्चों के फर्जी मस्टर रोल व जॉबकार्ड बनाकर बिना मजदूरी के 46 हजार 396 रुपए हड़प कर शासन को आर्थिक क्षति पहुंचाई गई।

इन पर एफआईआर हुई
ईओडब्ल्यू की टीम ने सरंपच देवकुमारी पत्नी रमेश परिहार, सचिव धनेन्द्र सिंह रावत और रोजगार सहायक भीकम सिंह जाटव सभी निवासी गांव किठौदा भितरवार के खिलाफ भ्रष्टाचार की धारा 420 धेखाधड़ी, सहित 409, 467, 468, 471, 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया है।

टिप्पणियाँ