दिल्ली। कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह कितना लंबा रहता है, क्रूर शेर अंततः बुरी तरह मर जाता है। लेखक आईपीएस अधिकारी म.प्र.
 कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह कितना लंबा रहता है, क्रूर शेर अंततः बुरी तरह मर जाता है।
        यही दुनिया है।
    बड़ी बिल्लियाँ, हालांकि शक्तिशाली और डरावनी दिखाई देती हैं, लेकिन वे समान रूप से कमजोर होती हैं, कुछ ही अपने गौरव की रक्षा करते हुए चोटों से मर जाती हैं।  मरते-मरते रह जाते हैं, आयु से दुर्बल हो जाते हैं।
      अपने शिकार करियर के अपने चरम पर, वे शासन करते हैं, शक्तिशाली अन्य डरे हुए जानवरों को देते हैं, उन्हें पकड़ते हैं, खा जाते हैं, निगलते हैं और फिर हाइना और अन्य मैला ढोने वालों के लिए अपनी अंतड़ियों और टुकड़ों को छोड़ देते हैं, जितनी जल्दी या बाद में उम्र पकड़ लेती है, बल्कि यह तेजी से आता है।
तब बूढ़ा शेर शिकार नहीं कर सकता, न मार सकता है और न ही अपना बचाव कर सकता है।  यह घूमता है और दहाड़ता है, दहाड़ता हुआ खोखला होता है, जब तक कि यह भाग्य से बाहर नहीं हो जाता।  अंत में वह लकड़बग्घे द्वारा घेर लिया जाता है, उन्हें कुतर दिया जाता है और उनके द्वारा जीवित खा लिया जाता है।  वे इसे मरने भी नहीं देंगे, इससे पहले कि यह अंग-अंगों से अलग-अलग हो जाए।
 कहानी का मनोबल-
    जिंदगी छोटी है।  शक्ति क्षणभंगुर है।  मैंने इसे शेरों में देखा है।  मैंने इसे पुराने लोगों में देखा है, तथाकथित पूर्व-शक्तिशाली, और इसी तरह। हर कोई जो लंबे समय तक रहता है वह किसी न किसी बिंदु पर बहुत कमजोर हो जाएगा।  इसलिए आइए हम विनम्र और दयालु बनें। बीमारों, कमजोरों, कमजोरों की मदद करें और सबसे महत्वपूर्ण बात यह कभी न भूलें कि हम सभी को एक दिन मंच छोड़ना है।
   "चंद लम्हों का खेल"
        'भोर की तरैया'
 "पानी केरा बुदबुदा"
लेखक माननीय श्री राजाबाबू सिंह आईपीएस अधिकारी मध्य प्रदेश
Comments
Popular posts
हेमंत सिंह कुशवाहा को कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश सचिव बनाने पर जोर दार किया स्वागत दी बधाई।
Image
क्षेत्रीय जनसमस्याओ को लेकर नायव तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा अगर जनसमस्याओ निराकरण नहीं हुआ तो अर्धनग्न प्रदर्शन किया जाएगा---राजोरिया
Image
महर्षि वाल्मीकि जयंती मनाई -राजोरिया
Image
ग्वालियर।प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना में लापरवाही पड़ी भारी कलेक्टर श्री सिंह ने डबरा सीएमओ को किया निलंबित, क्या गारंटी है कि भदौरिया लापरवाही नहीं करेंगे । नगरपालिका डबरा में ऊपर से लेके नीचे तक भ्रष्टाचार चल रहा है कलेक्टर कराया जांच ।
Image
डबरा।विद्युत विभाग की लापरवाही एक महीने में उपभोक्ता को तीन बार दिया विल अधिकारी कर्मचारी मचा रहे हैं भ्रष्टाचार अधिकारीयो पर इंटेलिजेंट नहीं दे रही ध्यान।
Image