भोपाल।आगामी 3 वर्षों में अधिकतम पुलिस आवास निर्माण की रहेगी कोशिश - डॉ. मिश्रा1556 पुलिस आवास-गृहों का हुआ वर्चुअल लोकार्पण।
 आगामी 3 वर्षों में अधिकतम पुलिस आवास निर्माण की रहेगी कोशिश - डॉ. मिश्रा
1556 पुलिस आवास-गृहों का हुआ वर्चुअल लोकार्पण

भोपाल।पुलिस के निश्चिंतता पूर्वक उत्कृष्ट कार्य करने के लिये आवश्यक इंतजाम के सकल प्रयास सरकार द्वारा किये जा रहे हैं। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों के लिये 8 जिलों में 304 करोड़ 68 लाख रुपये की लागत से नव-निर्मित 1556 आवासों के वर्चुअल लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि आगामी 3 वर्षों में पुलिस विभाग में अधिकतम आवासों के निर्माण के लिये समुचित प्रयास किये जायेंगे। समारोह में पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, अध्यक्ष मध्यप्रदेश पुलिस आवास एवं अधोसंरचना विकास निगम श्री विजय यादव, प्रबंध संचालक पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन श्री उपेन्द्र जैन एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

डॉ. मिश्रा ने कहा कि विभाग के कार्य में उत्कृष्टता लाने के लिये जरूरी है कि अधिकारी-कर्मचारियों को बेहतर संसाधन के साथ उपयुक्त वातावरण भी मुहैया कराया जाये। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसे संकट में भी पुलिस विभाग ने पूर्ण कर्त्तव्यनिष्ठा के साथ अपना कार्य किया। हमारे जवानों को शहादत भी देनी पड़ी। डॉ. मिश्रा ने कहा कि विभाग की विपरीत परिस्थितियों में भी बेहतर कार्य करने की जीजिविषा को दृष्टिगत रखते हुए विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों और उनके परिजनों को बेहतर वातावरण उपलब्ध कराने के लिये हमारी सरकार प्रतिबद्ध है। डॉ. मिश्रा ने कहा कि कर्मचारियों की आवास संबंधी समस्या से निश्चिंतता के लिये सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। विगत 40 वर्षों से पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन ने प्रतिवर्ष औसतन 800 क्वाटर्स का निर्माण किया है। मुख्यमंत्री पुलिस आवास योजना के अंतर्गत 2 हजार 384 पुलिस आवास-गृहों का निर्माण किया गया है। उन्होंने बताया कि आवासों के लोकार्पण की श्रंखला में शुक्रवार 6 अगस्त, 2021 को इंदौर में भी 818 पुलिस आवास-गृहों का लोकार्पण किया जायेगा।

आठ शहरों में 13 स्थानों पर हुआ लोकार्पण

अध्यक्ष, पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन श्री विजय यादव ने बताया कि राज्य-स्तर से 304 करोड़ 68 लाख रुपये की लागत से निर्मित 1556 आवास-गृह लोकार्पित किये गये हैं। इनमें सर्वाधिक ग्वालियर के 576 और सीधी तथा बुरहानपुर में 68-68 आवास सम्मिलित हैं। रीवा में 256, सागर में 180, जबलपुर में 152 और छतरपुर तथा धार के 128-128 आवास लोकार्पित किये गये हैं।

गृह मंत्री ने पुलिसकर्मियों से वर्चुअली संवाद किया

गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने पुलिस आवासों के लोकार्पण अवसर पर विभिन्न जिलों के पुलिसकर्मियों से वर्चुअली संवाद किया। डॉ. मिश्रा ने उन्हें नव-निर्मित आवासों के लिये बधाई दी। पुलिसकर्मियों ने भी सरकार द्वारा आवास संबंधी समस्या के निराकरण के लिये किये जा रहे सार्थक प्रयासों पर आभार ज्ञापित किया।

सर्व-सुविधायुक्त निर्मित किये गये हैं आवास

मध्यप्रदेश पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन द्वारा निर्मित आवासों में प्राकृतिक हवा एवं प्रकाश के प्रावधान किये गये हैं। आवास निर्माण में अत्याधुनिक शैली एवं उच्च गुणवत्ता की सामग्री का उपयोग किया गया है। बहु-मंजिला आवासों में लिफ्ट के साथ ही परिसर के लिये आवश्यक विकास कार्यों में सीमेंट-कांक्रीट की आंतरिक सड़कें, पार्किंग, बाह्य जल-प्रदाय, बाह्य सीवर लाइन, बाह्य विद्युतीकरण, स्ट्रीट लाइट, सीवेज ट्रीटमंट प्लांट आदि मूलभूत सुविधाओं के साथ ही जल संरक्षण एवं संवर्धन का समावेश परियोजना में किया गया है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
कांग्रेस व बसपा को फिर झटका चुनाव में मिलेगा भाजपा को फायदा पूर्व विधायक अजब सिंह कुशवाह,पूर्व विधायक लाखनसिंह बघेल पूर्व जिला अध्यक्ष बसपा सुरेश बघेल भाजपा में शामिल।
चित्र
अनमोल विचार और सकारात्मक सोच, हिन्दू और बौद्ध विचार धाराओं से मिलते झूलते हैं।.गुरु घासीदास महाराज जयंती पर विशेष
चित्र
डबरा। दिब्याशु चौधरी बने डबरा तहसील के नय एसडीएम शहर को मिले नए आईएएस अधिकारी।
चित्र
डबरा। नव नियुक्त आईएएस प्रखर सिंह ने एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अपना पदभार संभाला क्या शहर में तत्कालीन आईएएस अधिकारी रही सुश्री रेनू पिल्लेई,डा एम गीता जी जैसे तेजास्वी जैसा रुप दिखा पायेंगे या दोनों नेताओं के इशारे पर काम करेंगे।
चित्र
किसान मजदूर युवाओं के हाक अधिकार की लडाई के लिए बनाया नया यूनियन संगठन -ठाकुर गोपाल सिंह ताऊ