भाजपा नहीं चाहती थी कि सदन में हो चर्चा इसलिए भाग रही शिवराज सरकार, पिछड़ा वर्ग के 27 प्रतिशत आरक्षण पर उदासीनता की चोट, कांग्रेस नेताओं ने पत्रकार वार्ता में कहा
डबरा।ग्वालियर में कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने एक संयुक्त पत्रकारवर्ता लेकर  प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस के पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत एवं अन्य कांग्रेस नेताओं ने कहा कि शिवराज सरकार ने अगस्त 2021 में मानसून सत्र केवल 4 दिन के लिए बुलाया और उसके बाद सिर्फ 3 घंटे कार्रवाई चलने के बाद सत्र स्थगित कर दिया। अगर सरकार की मंशा सदन चलाने की होती तो द्वारा सदन बुलाया जा सकता था, लेकिन सरकार की मंशा सदन चलाने की नहीं थी। विपक्ष सरकार से डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस की महंगाई बाढ़ से हुई तबाही, पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण विश्व आदिवासी दिवस, कोरोना से हुई मौतें, जहरीली शराब से हुई मौतें, मध्यप्रदेश में बढ़ते अपराधों पर चर्चा चाहती थी, लेकिन सरकार के पास इनके उत्तर नहीं है। इसलिए सरकार विपक्ष से बचना चाहती है। कांग्रेस नेता गोविन्द सिंह आरोप लगाया कि ग्वालियर चम्बल में आई बाढ़ में 10 हजार करोड़ से अधिक नुकसान हुआ है लेकिन सरकार लीपापोती में लगी है। बाढ़ के दौरा सरकार का कुप्रबंधन भी देखने को मिला। बाढ़ में जो कोई बांध और सड़के बही हैं वो सब भाजपा शासन में बनी हैं जबकि कांग्रेस शासन में बने पुल आज भी पूरी मजबूती से खड़े हैं। पत्रकार वार्ता के दौरान कांग्रेस के, पूर्व मंत्री रावत,जिला अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा, विधायक सतीश सिकरवार, डबरा विधायक सुरेश राजे सहित अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहे।
टिप्पणियाँ
Popular posts
भितरवार (रामकुमार श्रीवास्तव संवाददाता)दो नाबालिग बच्चों को खेलते खेलते मिला खजाना, छीन ले गई महिला पुलिस को दी जानकारी पुरातत्व विभाग करेगा जांच।
चित्र
ग्वालियर।स्टाफ नर्सों की बड़े पैमाने पर भर्ती घोटाले की जांच एवं डीन पर एससी-एसटी एक्ट की कार्यवाही करने की मांग को लेकर संभागीय आयुक्त ग्वालियर को अजाक्स संघ ने दिया ज्ञापन ।
चित्र
दिल्ली।(एम एस बिशौटिया /रामकुमार श्रीवास्तव)दिल्ली पहुँची अपर्णा यादव, जेपी नड्डा और सीएम योगी आज दिलाएंगे सदस्यता भाजपा की सदस्यता चुनाव मैदान में उतरेंगे।
चित्र
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट बेंच ग्वालियर का बड़ा फैसला- पॉलिटेक्निक कॉलेजों में लेक्चरर-प्रोफेसरों की गेट 2020 एग्जाम से नियमित भर्ती विज्ञापन एवं भर्ती संबंधित नियम मध्यप्रदेश राजपत्र पर भी रोक लगाई।
चित्र
डबरा।शासकीय धनराशि का दुरूपयोग भारी पड़ा, दो पूर्व सरपंच जायेंगे जेल।
चित्र