ग्वालियर।रिश्वत में डिप्टी कलेक्टर के क्लर्क रविंद्र सिंह राजपूत को जिला कलेक्टर ने नहीं दिया हटाने का आदेश। सभी की मिली-जुली प्रतिक्रियाएं भले ही पत्रकारों ने रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा दिया लेकिन कलेक्टर ने अभी तक नहीं हटाया क्यों ?
 ग्वालियर।  डिप्टी कलेक्टर के कार्यालय में पदस्थ बाबू एक पत्रकार से रिश्वत वसूल रहा था। उसने समाचार पत्र के रजिस्ट्रेशन की फाइल नियमानुसार फॉरवर्ड करने से मना कर दिया था। 1 महीने से परेशान कर रहा था। लोकायुक्त पुलिस ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। सस्पेंड करने के लिए डिपार्टमेंट को लिखा गया है।लोकायुक्त में शिकायत करने के बाद प्लानिंग के तहत सौरव कुमार ने डिप्टी कलेक्टर के क्लर्क रविंद्र सिंह राजपूत से फोन पर बात की और उसे रिकॉर्ड कर लिया गया। प्लानिंग के तहत बुधवार 18 अगस्त को सौरव कुमार ने बाबू रविंद्र सिंह राजपूत को ₹900 रिश्वत के दिए। रुपए जेब में रखते हुए बाबू ने कहा कि आपका काम हो जाएगा। तभी लोकायुक्त पुलिस ने बाबू की कलाई पकड़ ली और कहा कि- आपका काम हो गया है। रविन्द्र सिंह राजपूत के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई है। उसे सस्पेंड करने के लिए राजस्व विभाग को लिखा गया है। आज तक नहीं किया जिला ग्वालियर कलेक्टर ने सस्पेंड  कलेक्ट्रेट सूत्रों ने प्राप्त जानकारी अनुसार रविन्द्र सिंह राजपूत की पकड़ जिला ग्वालियर कलेक्टर व मंत्रीयो से बताई जा रही है जिससे अभी तक श्री राजपूत ने किसी को चार्ज नहीं दिया है ।और ना ही जिला ग्वालियर कलेक्टर ने उसे नियम अनुसार  हटाया भी नहीं है ना ही किसी अन्य को चार्ज नहीं दिया अब देखना है कि कितने दिन में चार्ज  होता है। 
टिप्पणियाँ
Popular posts
भितरवार (रामकुमार श्रीवास्तव संवाददाता)दो नाबालिग बच्चों को खेलते खेलते मिला खजाना, छीन ले गई महिला पुलिस को दी जानकारी पुरातत्व विभाग करेगा जांच।
चित्र
ग्वालियर।स्टाफ नर्सों की बड़े पैमाने पर भर्ती घोटाले की जांच एवं डीन पर एससी-एसटी एक्ट की कार्यवाही करने की मांग को लेकर संभागीय आयुक्त ग्वालियर को अजाक्स संघ ने दिया ज्ञापन ।
चित्र
दिल्ली।(एम एस बिशौटिया /रामकुमार श्रीवास्तव)दिल्ली पहुँची अपर्णा यादव, जेपी नड्डा और सीएम योगी आज दिलाएंगे सदस्यता भाजपा की सदस्यता चुनाव मैदान में उतरेंगे।
चित्र
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट बेंच ग्वालियर का बड़ा फैसला- पॉलिटेक्निक कॉलेजों में लेक्चरर-प्रोफेसरों की गेट 2020 एग्जाम से नियमित भर्ती विज्ञापन एवं भर्ती संबंधित नियम मध्यप्रदेश राजपत्र पर भी रोक लगाई।
चित्र
डबरा।शासकीय धनराशि का दुरूपयोग भारी पड़ा, दो पूर्व सरपंच जायेंगे जेल।
चित्र