छतरपुर/ घुवारा-पशु चिकित्सालय बना दिया शराबियों का अड्डा , पशु डाक्टर ब्रिजेश कुरकू पर पहले भी अय्याशी के मामले में चर्चा में रहे लेकिन विभाग द्वारा निलंबन नहीं ।
 पशुपालन मंत्री भी नहीं ले रहे इस मामले को गंभीरता से, पशु चिकित्साधिकारी क्यों नहीं कर रहे निलंबन के आदेश।
छतरपुर/घुवारा- नगर में पशु चिकित्सालय में कार्यरत अधिकारी डा  ब्रिजेश कुरकू आजकल कोई ना कोई ऐसा करनामा करने से बाज नहीं आ रहे की अखबारों की सुर्खियां बन रहे हैं और पशु विभाग की भी धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं  ऐसा ही एक मामला सामने आया सूत्र बताते हैं कि नगर में पशु चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए एक पशु चिकित्सालय घुवारा में बना हुआ लगभग दो लाख की आबादी में एक पशु डाक्टर ब्रिजेश कुरकू पदस्थ हैं डाक्टर साहब के आजकल बहुत सुर्खियां बटोर रहे हैं इस मामले से पहले डाक्टर साहब एक महिला के साथ मोबाइल पर दोस्ती कर शादी का झांसा देकर महिला के साथ अनैतिक संबंध बनाने का मामला सामने आया और मीडिया में चर्चा में रहे लेकिन राजनीतिक नेताओं से जुड़े तारो के कारण थाने में मामला दर्ज तो हुआ जेल में एक महीने सजा भी कटी जेल से बाहर निकलने पर  घुवारा में ही नौकरी कर रहे हैं  लेकिन पशु चिकित्सालय विभाग ने फिर भी निलंबित नहीं किया।अब डाक्टर साहब जी ने पशु चिकित्सालय भी शराबियों का अड्डा बना दिया डाक्टर साहब हर रोज राजनीतिक नेताओं के वर्चस्व व दम पर पशुचिकित्सालय में ही शराब पार्टी मनाते नजर आए । उनके चिकित्सालय में रखे डस्टबिन में अंग्रेजी शराब की खाली बोतल देखने को मिली है यह सब मामला सामने आया तो पशुओं का इलाज करने के लिए कुछ लोग डाक्टर साहब से मिलने पहुंचे तो होश उड़ गए। यह सब पशु चिकित्सालय से जुड़े एजेंट की मिली-जुली भगत से चल रहा है बताया जा रहा है कि पशुओं के इलाज करने के लिए डाक्टर साहब को कुछ लोग गांव में पशुओं का इलाज कराने ले जाते हैं । जो इलाज का रुपया मिलता है उससे पशु चिकित्सालय में खाने पीने की पार्टी मनाते हैं लेकिन यह मामला एक बार का नहीं है  डाक्टर साहब अन्य प्रदेश की महिला के साथ शादी करने का झांसा देकर महिला को ब्लेक मेल भी करने की पुरी कौशिक की थी लेकिन उसके बाद महिला ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी तो पुलिस से मिलकर मामले को रफा-दफा करने के लिए पुलिस एवं गवाहों पर डा ब्रिजेश कुरकू ने पशु चिकित्सालय के वरिष्ठ डाक्टरो से मिलकर दवाब बनाया था लेकिन असफल रहे लेकिन डाक्टर साहब के आज भी हांसले बुलाद है । डाक्टर साहब की पशु चिकित्सालय के वरिष्ठ अधिकारियों से पकड़ होने के कारण विभाग उनके खिलाफ कोई दण्डातिमिक कार्यवाही नहीं करते हैं।
                        इनका कहना है 
मीडिया के माध्यम से जानकारी मिली है इस मामले की जांच करता हूं में खुद निरीक्षण करने शीघ्र जाऊंगा और इस मामले की संबंधित अधिकारियों को जानकारी भेजी जाएगी। 
डाक्टर आर एस प्रजापति
पशु चिकित्सालय बड़ामलहरा जिला छतरपुर मध्यप्रदेश
टिप्पणियाँ
Popular posts
कांग्रेस व बसपा को फिर झटका चुनाव में मिलेगा भाजपा को फायदा पूर्व विधायक अजब सिंह कुशवाह,पूर्व विधायक लाखनसिंह बघेल पूर्व जिला अध्यक्ष बसपा सुरेश बघेल भाजपा में शामिल।
चित्र
अनमोल विचार और सकारात्मक सोच, हिन्दू और बौद्ध विचार धाराओं से मिलते झूलते हैं।.गुरु घासीदास महाराज जयंती पर विशेष
चित्र
डबरा। दिब्याशु चौधरी बने डबरा तहसील के नय एसडीएम शहर को मिले नए आईएएस अधिकारी।
चित्र
डबरा। नव नियुक्त आईएएस प्रखर सिंह ने एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अपना पदभार संभाला क्या शहर में तत्कालीन आईएएस अधिकारी रही सुश्री रेनू पिल्लेई,डा एम गीता जी जैसे तेजास्वी जैसा रुप दिखा पायेंगे या दोनों नेताओं के इशारे पर काम करेंगे।
चित्र
किसान मजदूर युवाओं के हाक अधिकार की लडाई के लिए बनाया नया यूनियन संगठन -ठाकुर गोपाल सिंह ताऊ