नियमितीकरण के संकल्प के साथ पॉलिटेक्निक अतिथि व्यख्याताओं का साँची से भोपाल की ओर कूंच।

म.प्र.की सरकार ने जनसमस्याओं को नहीं सुना तो आगमी चुनाव  नगर निगमों व अन्य  में सरकार के विरुद्ध पहल करेंगे ,जिसकी जवाब देसी सरकार की होगी ।


सांची। अतिथि व्यख्याताओं  के  सचिव दिनेश कुमार सेन ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में बताया कि पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याताओं ने साँची बौद्ध स्तूप पर एकत्रित होकर नियमतिकरण के सामूहिक संकल्प  के साथ नियमितीकरण भविष्य सुरक्षा अधिकार यात्रा के साथ तिरंगा लेकर घंटानाद ध्वनि के साथ यात्रा की शुरुआत की।चुकी चुनाव से पूर्व कांग्रेस के वचन पत्र में नियमितीकरण वादे के उलट गेट एग्जाम के माध्यम से भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है जब कि पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याताय  विगत पांच वर्षों सेनियमितीकरण को लेकर लगातार आंदोलन कर रहे है। पद यात्रा के माध्यम से मध्यप्रदेश की असंवेदनशील सरकार को घंटा बजाते हुए अपने दिए हुए नियमितीकरण के वचन निभाने की मांग करते हुए पैदल मार्च कर रहे है।यात्रा के प्रथम दिन में ग्वालियर, भोपाल, रायसेन, बैढन, शिवपुरी, भिंड, सीहोर,आगर- मालवा, हरदा, से पॉलीटेक्निक अतिथि व्याख्याता शामिल हुए जिसमे मुख्य रूप से अध्यक्ष अखलेश सेन, उपाध्यक्ष निशान्त चौरसिया,आंदोलन समिति के संयोजक विजय कुमार याग्निक, सहसचिव प्रकाश चंद्र दुबे,समस्त जिला एवं संभाग संयोजक देवीदीन अहिरवार, ऋषभ पटसारिया, देवेंद्र त्रिपाठी, अमित तिवारी, समीर मुलताई, महेंद्र अहिरवार, मनीष पटेल एवं अन्य अतिथि व्याख्याता शामिल हुए।


टिप्पणियाँ
Popular posts
डबरा। पुलिस ने गुंडों के खिलाफ चलाया विशेष अभियान , पुलिस शराब की दुकान के सामने खड़ी करें डायल 100 जिससे शराबियों में भी रहेगा पुलिस का खौफ अपराधो पर लगेगा प्रश्न चिन्ह।
चित्र
दतिया।दतिया का विकास का रथ अब नहीं रुकेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान, मुख्यमंत्री जी ने रचा इतिहास --डा मिश्रा।
चित्र
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट बेंच ग्वालियर का बड़ा फैसला- पॉलिटेक्निक कॉलेजों में लेक्चरर-प्रोफेसरों की गेट 2020 एग्जाम से नियमित भर्ती विज्ञापन एवं भर्ती संबंधित नियम मध्यप्रदेश राजपत्र पर भी रोक लगाई।
चित्र
भोपाल।शिकायतों के आधार पर हटेंगे कर्मचारी तीन वर्ष से एक ही स्थान पर जमे हैं अफसरों के तबादले पर चुनाव आयोग की राहत।
चित्र
बहुजन समाज को जागरूक करने वाले मासीह मान्यवार कांशीराम साहब जी का जन्म दिन 87वे 15मार्च को , बहुजन समाज को भारत सरकार से भारत रत्न की मांग करना चाहिए।
चित्र