पांच राज्यों चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है-- चुनाव आयोग

 नई दिल्ली -पंचमहलकेसरी अखबार।पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में, जबकि असम में चीन चरणों में मतदान होगा. वहीं केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में एक ही चरण में मतदान होंगे. सभी राज्यों में 2 मई को मतगणना होगी।मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि चुनाव के दौरान स्पेशल, जनरल, खर्च और पुलिस ऑब्जर्वर तैनात होंगे. कई बार जरूरी होने पर चुनाव आयोग जिला ऑब्जर्वर पर निगरानी के लिए सेंट्रल आब्जर्वर भी भेजता है।उन्होंने कहा कि विवेक दुबे को पश्चिम बंगाल, दीपक मिश्रा को केरल, धर्मेंद्र कुमार को तमिलनाडु में स्पेशल पुलिस ऑब्जर्वर बनाकर भेजा जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में होगा मतदान 

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान होगा. बंगाल में 27 मार्च को पहले चरण में मतदान होगा. दूसरे चरण में 1 अप्रैल को मतदान होगा. तीसरे चरण में 6 अप्रैल, चौथे चरण में 10 अप्रैल, पांचवें चरण में 17 अप्रैल, छठे चरण में 22 अप्रैल, सातवें चरण में 26 अप्रैल और आठवें चरण में 29 अप्रैल को मतदान होगा. जबकि मतगणना 2 मई को की जाएगी।

पुडुचेरी में एक चरण में होगा मतदान 
केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में एक चरण में मतदान होगा.
चुनाव की अधिसूचनाः 12 मार्च
नामांकन की आखिरी तिथिः 19 मार्च
नामांकन पत्रों की जांचः 28 मार्च
नाम वापसी की तिथिः 22 मार्च
मतदान की तिथिः 6 अप्रैल
मतगणना की तिथिः 2 मई को आएंगे नतीजे.

असम में 3 चरणों में होंगे मतदान

फेज वोटिंग सीटें
पहला फेज 27 मार्च 47
दूसरा फेज 1 अप्रैल 39
तीसरा फेज 6 अप्रैल 40

केरल में एक चरण में होगा मतदान ।
चुनाव आयोग ने शुक्रवार को विज्ञान भवन में एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि केरल में सिर्फ एक चरण में 6 अप्रैल को विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे. केरल में विधानसभा की 140 सीटे हैं, जबकि एक अन्य सीट नामित होती है।

तमिलनाडु में 6 अप्रैल को वोटिंग 
तमिलनाडु में एक चरण में चुनाव होगा. सभी सीटों के लिए छह अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. यहां 232 सीटों पर चुनाव होगा. चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा कि कोरोना गाइडलाइंस के मद्देनजर सभी राज्यों में मतदान केंद्र बढ़ाए गए हैं. इसके अलावा मतदान का समय भी एक घंटा बढ़ाया गया है.

टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र