रायसेन।(मनीष नामदेव सिलवानी 8962253812) सहकारिता प्रबंधक ने बिना जमीन वालों को बना दिया किसान उनके नाम लोन देकर ,फर्जी लोन घोटाला । कलेक्टर ने दिए निर्देश जांच शुरू ।
 रायसेन/बरेली ।सहकारिता क्षेत्र में जो ना हो जाये वो कम है रायसेन जिले की सेवा सहकारी समितियों पर आरोप लगने कोई नई बात नही है लेकिन कार्यवाही होना बड़ी बात है ऐसी सोसायटियां अनगिनत है जिनके ऊपर कार्यवाही लम्बित है कलेक्टर ने कई सोसायटियो के प्रबन्धको पर एफआईआर के निर्देश दे रखे है इसके वावजूद कोई कार्यवाही नही होती ऐसा ही एक मामला चैनपुर सेवा सहकारी समिति का निकल कर आ रहा है जहां किसानों के पास लोन जमा करने के नोटिस पहुच रहे है जिसकी शिकायत किसानों ने कलेक्टर रायसेन उमाशंकर भार्गव से की  कलेक्टर ने एक तीन सदस्यीय जांच दल चैनपुर जांच के लिए भेजा किसान फरवरी से चैनपुर क्षेत्र की शिकायत करते आ रहे है किसानों का आरोप है बगेर कर्ज लिए हमारे ऊपर लाखो का कर्ज बता रहे है किसानों का साफ तौर पर कहना है हमने किसी प्रकार का कर्ज नही लिया प्रवन्धक वीरेंद्र राजपूत ने घपला कर हम लोगो को कर्जदार बना दिया  जिन किसानों के पास जमीन नही है उन किसानों के नाम भी लोन निकलना किसी घोटाले की ओर इशारा करता है ऐसे तकरीबन 62 किसान है जिन्होंने लोन नही लिया और जिनके पास जमीन नही है या है भी तो एक एकड़ से ज्यादा नही ऐसे गरीब किसानों के ऊपर 1 लाख  2 लाख तक के लोन निकल रहे है और यह गरीब किसान कहा से यह पैसा जमा करे जो मर चुके उनके नाम भी निकला कर्ज का नोटिस ओर जिनके पास पट्टे की जमीन है इनके नाम भी है कर्ज सवाल यह उठता है किसानों ने कर्ज लिया नही तो  कैसे इनपर कर्ज चढ़ गया और भी लाखों में तकरीबन एक करोड़ रुपये का घोटाला बताया जा रहा है जव किसानों ने कलेक्टर से इस वाबत शिकायत की तब जाकर एक जांच दल गठित किया जो मोके पर पहुचा ओर जितने किसान है उनके बयान लिए जांच दल अपनी जांच कर तो चला गया और प्रतिवेदन कलेक्टर को सौप देगा लेकिन क्या ऐसे प्रवन्धक को कोई सजा मिल पाएगी और इस तरह के घोटालेबाजो को कोई सजा मिलेगी या नहीं यह केेेेेेहना मुुसकिल है
जांच दल ने मीडिया से बात करने से पहले तो परहेज किया लेकिन काफी देर वाद कैमरे पर बोलने को तैयार हुए।
जांच पड़ताल की है किसानों के नाम लोन दिया है किसानों जनसमस्याएं से जिला कलेक्टर को जांच रिपोर्ट दी जायेगी फिर जो भी कार्य वाही हो कलेक्टर साहब करेंगे।
 वी के सिंह जांच अधिकारी 
 हमारे को नोटिस आया तब पता चला कि हमारे पास लोन है हमने जिला कलेक्टर से गुहार लगाई है हमें न्याय मिले।
 खिमिया बाई 
 सोसाइटी प्रबंधक हैं उसने जिनके पास जमीन नहीं उनके नाम भी लोन पास कर घोटाला किया है इसकी जांच हो रही है
 रियाज खा किसान 
कई किसान ऐसे हैं इनके पास बिल्कुल जमीन नहीं है और सोसाइटी सेक्रेटरी ने उनके नाम लोन निकालकर खाने का काम किया है हम इसके हटाने की मांग प्रशासन से और उनके ऊपर एफ आई आर दर्ज हो स्पष्ट रूप से जांच हो।
तारिक किसान 
Comments
Popular posts
डबरा/बिलौआ। प्रधानमंत्री आवास योजना में 7 पटवारी एवं तीन कर्मचारी दोषी अब देखना है क्या दोषियों को ईओडब्ल्यू जांच करेगा इन दोषियों की चल अचल संपत्ति की ।
Image
डबरा। जनता के लिए विधायक निधि से बनाया लाखों रुपए का प्रतिक्षालय क्षतिग्रस्त। मुझे इसकी जानकारी नहीं में दिखवता हूं में अभी भोपाल में हूं आने पर बनवाया जायेगा। सुरेश राजे विधायक डबरा।
Image
डबरा।एसडीएम प्रदीप कुमार शर्मा गांव धई से सरकारी भूमि को कब करायेगे मुक्त पटवारी आर आई की लापरवाही।
Image
डबरा।कवि रज्जन जी की चौदहवीं पुण्यतिथि पर कवि गोष्ठी व सम्मान समारोह संपन्न।
Image
भोपाल।समय-सीमा में पूरी करें नगरीय निकाय निर्वाचन की तैयारीआयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग श्री सिंह ने समीक्षा बैठक में दिये निर्देश।
Image