सिलवानी(मनीष नामदेव 8962253812 )सराफा व्यापारियों ने एच यू आई डी पर रोक की मांग को लेकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन ।
सिलवानी।सराफा व्यापारियों ने तहसील कार्यालय पहुंचकर भारत सरकार द्वारा लागू किये जा रहे एचयूआईडी कानून पर रोक लगाने की मांग लेकर प्रधानमंत्री एवं केन्द्रीय उपभोक्ता मंत्री के नाम एसडीएम संघमित्रा बौद्ध को ज्ञापन सौंपा गया।भारतवर्ष का सराफा व्यापारी केन्द्र की भाजपा सरकार का पक्षधर रहा है किन्तु उसके बावजूद भी वर्तमान परिस्थितियों में सरकार द्वारा किये जा रहे अदूरदर्शिता पूर्ण निर्णयों की वजह से हमारा व्यापार वर्तमान में इतिहास के सबसे विकट व्यावसायिक संकट को झेल रहा है। यह स्पष्ट है कि भारत के प्रत्येक सराफा व्यापारी ने हाॅलमार्क कानून का समर्थन किया है किन्तु सरकार व बीआईएस के अधिकारियों द्वारा एचयूआईडी के संदर्भ में पिछले दिनों व्यापारिक संगठन के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित बैठक में आश्वासन दिया गया था कि हम एचयूआईडी को अभी हम लागू नहीं करने जा रहे है। उसके बावजूद षंडयंत्र पूर्ण तरीके से व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों को विश्वास में लेकर विश्वासघात करने जैसा कार्य किया है। जिसका दूरगामी परिणाम राष्टहित एवं जनहित में उचित प्रतीत नहीं होता है।सरकार मंशा सिर्फ और सिर्फ क्वालिटी कंट्रोल की है तो एचयूआईडी के माध्यम से अतिरिक्त बाध्यता क्यों लागू की जा रही है। सराफा व्यापारियों के किसी भी वर्ग को हाॅलमार्क सेन्टर में एचयूआईडी स्वीकार नहीं है। भारत देेेश की 80 प्रतिशत आबादी ग्रामों में रहती है। और हमारे ग्रामीण सराफा व्यापारी व स्वर्णकार बंधु पोर्टल व साफटवेयर नहीं चला सकते है। जिनकों ध्यान में रखकर नीति निधारण होना चाहिये। पूरे देश के ज्वेलरी टेड को हाॅलमार्क स्वीकार पर हाॅलमार्क करने हेतु पोर्टल व साफटवेयर बीआईएस ने तैयार किया जिसमें जेबर लोड करने के बाद जेबर में हाॅलमार्क होगा। इस टेड का छोटा और मध्यम व्यापारी इसमें सक्षम नहीं है।सरकार विरोधी तत्वो व नौकरशाहों की मानसिकता व षडयंत्र को समझते हुये सराफा व्यापारियों एवं जनहित में निर्णय लेते हुये एचयूआईडी कानून को शीघ्र रोका जावे एवं सराफा जगत की व्यावसायिक स्वतंत्रता को गुलाम बनाने का कार्य नहीं किया जाये।इस अवसर पर गोविन्द सोनी, दीपक सोनी, सुमित तारण, वैभव जैन, प्रिंस समैया, अभिषेक सोनी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।
टिप्पणियाँ