दिल्ली। अक्तूबर में सबसे उच्च स्तर पर होंगे कोरोना के मामले, बच्चों पर बड़ा खतरा -गृह मंत्रालय के पैनल ने चेताया
दिल्ली। अक्तूबर में सबसे उच्च स्तर पर होंगे कोरोना के मामले, बच्चों पर बड़ा खतरा -गृह मंत्रालय के पैनल ने चेताया
 दिल्ली।नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट कमेटी ने प्रधानमंत्री कार्यालय को रिपेार्ट सौंपी है। इसमें उसने देश में बच्चों के लिए मेडिकल सुविधाओं, आईसीयू, कोरोना वार्ड, प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीनेशन, एंबुलेंस का इंतजाम करने की सलाह दी है। क्योंकि, अक्तूबर में आने वाली तीसरी लहर में सबसे ज्यादा संक्रमण बच्चों में होगा। गृह मंत्रालय की नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट कमेटी ने तीसरी लहर की आशंका जाहिर की है। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी है। इसके मुताबिक अक्तूबर में कोरोना की तीसरी लहर अपने पीक पर होगी। साथ ही कमेटी ने प्रधानमंत्री कार्यालय को बच्चों और युवाओं के लिए मेडिकल सुविधाओं का इंतजाम करने की सलाह भी दी है। विशेषज्ञों की कमेटी का मानना है कि तीसरी लहर बच्चों व युवाओं के लिए बड़ा खतरा बन सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में बच्चों के लिए मेडिकल सुविधाएं, वेंटीलेटर, डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस, ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था करनी होगी। क्योंकि, बड़ी संख्या में बच्चे व युवा कोरोना से संक्रमित होंगे। प्राथमिकता के आधार पर करना होगा टीकाकरण 
गृह मंत्रालय ने यह रिपोर्ट उस समय जारी की है, जब बच्चों के लिए टीकाकरण भी शुरू होने वाला है। रिपेार्ट में कहा गया है कि बच्चों के बीच प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण करना होगा। इसके साथ ही कमेटी ने कोविड वार्ड को फिर से इस आधार पर तैयार करने की सलाह दी है, जिससे बच्चों के तीमारदारों को भी साथ रहने की अनुमति मिल सके। 

हर दिन सामने आ सकते हैं पांच लाख केस 
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट की रिपेार्ट के मुताबिक सितंबर अंत तक तीसरी लहर अपना असर दिखाना शुरू कर देगी। वहीं अक्तूबर में देश में हर दिन पांच लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं। इस कारण करीब दो महीने तक देश को फिर से परेशानी झेलनी पड़ सकती है।

केरल में सबसे ज्यादा संक्रमण
केरल, बंगलूरू, असम में तीसरी लहर की बानगी भी देखने को मिल रही है। यहां पिछले दो से तीन सप्ताह से बच्चों के संक्रमित होने की दर ज्यादा है। इस समय केरल में संक्रमण दर बढ़कर 17 प्रतिशत तक पहुंच गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि केरल में ओणम के बाद कोरोना संक्रमण और भी ज्यादा बढ़ सकता है। वहीं डेल्टा प्लस वैरिएंट के भी मामले देश में बढ़ते जा रहे हैं। महाराष्ट्र में पिछले दिनों ही इससे कई मौतें हो चुकी हैं। 
आईआईटी कानपुर ने किया था तीसरी लहर से इंकार 
वहीं दूसरी तरफ आईआईटी कानपुर ने कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका को न के बराबर बताया है। वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय ‘मॉडल सूत्र’ के आधार पर नई स्टडी जारी की है। उनका दावा है कि अक्तूबर तक उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में केसों की संख्या इकाई अंक तक पहुंच जाएगी।
उनका कहना है कि वैक्सीनेशन ने इसका खतरा और कम कर दिया है। इससे संक्रमण लगातार कम होगा। उन्होंने बताया कि यूपी, बिहार, दिल्ली जैसे राज्य लगभग संक्रमण मुक्त होने की ओर हैं। हालांकि, देश में एक्टिव केस अक्तूबर माह तक भी 15 हजार के करीब रहेंगे क्योंकि तमिलनाडु, तेलंगाना, केरल समेत पूर्वोत्तर राज्यों में संक्रमण रहे।

Comments
Popular posts
पंजाब मे अनुसूचित जाति के जाटव( रविदसिया समाज )के कांग्रेस से नय मुख्यमंत्री रुप में चरनजीत सिंह चन्नी लेंगे शपथ ।
Image
दिल्ली।खुद को बदलेगी कांग्रेस, नए तेवर का हिस्सा होंगे कन्हैया, जिग्नेश, हार्दिक दलितों को आगे बढ़ाने कांग्रेस कर रही है दलितों का बसपा से हटाएगी पुरा ध्यान । मध्यप्रदेश में कांग्रेस दलितो को आगे नहीं बढाऐगी कांग्रेसी नेता विधायकगढ भाजपा का अंदर से दे रहे साथ ,आगे बने भाजपा की सरकार ।सूत्र
Image
भोपाल/जबलपुर।केन्द्रीय गृह मंत्री श्री शाह ,मुख्यमंत्री श्री चौहान गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने अमर शहीद राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर दी श्रद्धांजलि।
Image
डबरा।स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच बढ़ाने के लिये निजी अस्पतालों का सहयोग जरूरी – गृहमंत्री डॉ. मिश्रा
Image
विदिशा।पुरे मध्यप्रदेश में मतदाता सूची से मिलान कर शेष रह गए नागरिकों को कराएँ वैक्सीनेशन 26सितंबर तक। मुख्यमंत्री श्री चौहान
Image