ग्वालियर।73वा गणतंत्र दिवस गोपाल किरन समाजसेवी संस्था ने बड़े धूमधाम से मनाया।

ग्वालियर। गोपाल किरन समाजसेवी संस्था ग्वालियर ने द्वारा शील नगर डा अम्बेडकर बहोड़ापुर 73वा गणतंत्र दिवस समारोह कार्यक्रम आयोजित । जिसकी थीम मेरी शान, भारत का संविधान रखी गई जिसके मुख्य अतिथि  पुलिस नगर निरीक्षक बहोड़ापुर, थाना श्री अमर सिंह सिकरवार जी ने ध्वजारोहण किया गया। श्री सिकरवार जी ने अपने संबोधन मे कहा कि मुझे भी सौभाग्य प्राप्त हुआ है। समाजिक संस्था ने मिल जुलकर यह राष्ट्रीय के हित मे अच्छा और बेहतर कार्यक्रम करते है विशेष अतिथि श्रीमती सुनीता गौतम जी ने कहा कि इस मे सभी की एकता देखने को मिली । सभ्यता व सविंधान  यही कहता है। कार्यक्रम मुख्य रुपतार डॉ. प्रवीण  गौतम जी ने कहा अनेकता में एकता भारत की विशेषता है। किसी का मन दुखी है तो उसको समझे। भारत के निर्माण मे सभी को साथ लेकर चलें। डॉ. अम्बेकडकर जी किसी एक के नहीं सभी के है।  संस्था के संस्थापक व अध्यक्ष श्रीप्रकाश सिंह निमराजे, ने गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी। गणतंत्र दिवस हमें देश के संविधान के प्रति समर्पित रहने की प्रेरणा देता है। वर्तमान समय में लोकतांत्रिक मूल्यों को कायम रखना एक बड़ी चुनौती है। ऐसे में हम सभी भारतीयों का कर्तव्य है कि संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करते हुए देश में एकता व अखंडता बनाए रखने में योगदान दें और भारतीय लोकतंत्र को मजबूत बनाएं। 26 जनवरी 1950 को भारत को अपना संविधान मिला. इसी दिन भारतीय संविधान लागू हुआ और इसी के साथ भारत एक संप्रभु राज्‍य बन गया, जिसे गणतंत्र घोष‍ित किया गया. डॉ बीआर अंबेडकर ने संविधान की मसौदा समिति की अध्यक्षता की. गणतंत्र घोष‍ित किया गया, इसलिये इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। हम सभी देशवासी 73 वा गणतंत्र दिवस मना रहे हैं । देश की आजादी के बाद भारतीय संविधान का गठन हुआ था बाबा साहेब भीम राव जी को संविधान निर्माता कहा जाता है ।भारतीय संविधान की मूल प्रति हाथ से बने कागज पर हाथों से लिखी है, इसे संसद भवन के पुस्तकालय में नाइट्रोजन गैस चैंबर में रखा गया है. ताकि संविधान के मूल प्रति को संरक्षित रखा जा सके। गणतंत्र दिवस पर डॉ भीमराव अंबेडकर जी को याद न किया जाना इस गणतंत्र दिवस के साथ बेमानी होगी । क्योंकि राजतन्त्र व विदेशी हुकूमत के बाद लोकतांत्रिक व्यवस्था डॉ भीमराव अंबेडकर जी ने की थी । सभी ने भाईचारा, राष्ट्र भावना के साथ एक दूसरे से मिलकर कार्य करें अन्य लोगों ने अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम मे एकजुटता ओर भाईचारा देखने को मिली। इस कार्यक्रम में डॉ प्रवीण गौतम,निर्मला पारस, जहाँआरा  कु. अवनी गौतम, कु. अनुष्का गौतम, जी,एस एस बरेलिया जी, जगदीश मौर्य, रीना शाक्य,
मान सिंह पंडोरिया,अमर सिंह बंसल,गया लाल आर्य, गीता टेगोर,विवेक आर्य,राकेश कोतवाल,पवन जी, राजेश राजोरिया जी,सुनील बरेलिया जी, ज्योति गौतम,रामनाथ मास्टर जी,  निर्मला पारस जी,सीमा पंडोलिया,रेखा आर्य,पार्वती बंसल,कान्ता राजौरिया,काजल कदम,ज्योति गौतम,मानसिंह पांडोलिया, जी आदि उपस्थित हुए। अनुसूचित जाति, जनजाति कल्याण समिति का सहयोग रहा। श्रीप्रकाश सिंह निमराजे, जी ने टी. आई.  बहोड़ापुर की थीम आधारित टी शर्ट प्रदान की गई। व बच्चों व महिलाओं को प्रमाण पत्र, कलेंडर वितरण किये आभार प्रदर्शन  समिति सचिव जहांआरा ने किया।
टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर(एम एस बिशौटिया संपादक)फूल सिंह बरैया की बेटी की शादी का अनोखा कार्ड चर्चा में।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र