सिद्धिविनायक अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर आरोप बहू की हो रही थी नॉर्मल डिलीवरी लेकिन सीजर कर दिया - पूर्व विधायक शकुंतला खटीक ।
  शिवपुरी। बात शहर के सिटी कोतवाली क्षेत्र के सिद्धिविनायक अस्पताल की है। जहां पूर्व विधायक शकुंतला खटीक ने अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाते हुए मीडिया के सामने फूट फूट कर रोने लगी। मीडिया के सम्मुख पूर्व विधायक शकुंतला खटीक ने आप बीती बयां करते हुए बताया कि मेरी  बहू को नार्मल डिलेवरी होना थी बच्चेदानी से बच्चे का सिर भी बाहर निकल आया था जिसे अंदर करके जबरन सीजर कर दिया गया।उन्होंने घटनाक्रम को सिलसिलेवार बताते हुए कहा कि उनके बेटे कपिल की बहू मधु को डिलेवरी होना थी, तो कपिल ने उनसे कहा कि मम्मी हम सिद्धि विनायक चलते हैं। वहां मेरी पहचान भी है। शकुंतला ने डॉक्टर सुनील तोमर से कहा कि हमारी बहू की यह पोजीशन है कि बच्चा नार्मल है, ना बीपी है, ना शुगर है, नार्मल डिलेवरी होना है, अगर आपको पैसा चाहिए तो मुझे मुंह से बोल देना।इस पर वे हमसे कहने लगे आप चिंता मत करो, शाम तक आपकी बहू की नॉर्मल डिलीवरी हो जाएगी। इधर बहू को प्रसव पीड़ा भी शुरु हो गई थी। उस समय डॉ शैली मैडम उनकी बहू को देख कर चली गई। बाद में इसी बीच रात्री 3:00 बजे उनकी बहू को डिलेवरी कराने के नाम पर उठाकर ले गए और पूछने पर बताया कि मैडम आ गई हैं, डिलीवरी करानी है।शकुंतला ने कहा कि बहू को अंदर ले जाकर देखा तो उसके बच्चे का सिर बच्चेदानी से बाहर निकल आया था यानि डिलेवरी नार्मल होने लगी थी। उन्होंने कहा कि उस बच्चे का सिर बाहर आया तो उसके सिर को डॉक्टर शैली ने जबरन अन्दर कर दिया और हाथ डाल कर थैली भी फोड़ दी।शकुंतला का कहना है कि मैं भी 5 बच्चों की मां हूं, सब समझती हूं। डॉक्टर शैली सेंगर ने वहां मौजूद सिस्टर से कहा कि अंदर ओटी में ले चलो। पूर्व विधायक शंकुतला ने आरोप लगाया हे कि उनके हावभाव बता रहे थे कि पहले से पूरी भूमिका बना ली थी कि सीजर करना है। उनकी एक नहीं सुनी और नार्मल डिलेवरी को सीजर में बदल दिया। यहां तक कि सीजर के लिए परमीशन लेटर पर भी रजामंदी नहीं ली गई और जब सीजर से बच्ची हो गई तब उनके बेटे से डाक्टर ने कागज साईन करा लिए।शकुंतला इतना सब बताते हुए फूट फूट कर रोने लगी उन्होंने रोते हुए बताया कि सीजर होने के बाद जब उन्होंने डॉक्टर तोमर से कहा कि यह क्या कर दिया तुमने तो नॉर्मल डिलीवरी कराने को कहा था। बकौल शकुंतला खटीक इस पर डॉ तोमर ने अपनी गलती भी स्वीकारी और कहा कि मुझ से गलती हो गई।

*जब पूर्व विधायक के साथ यह होता है तो आम जनता की कैसी लूट होती होगी*

बिलखते हुए पूर्व विधायक शकुंतला ने कहा कि अस्पताल में इतना अत्याचार, ऐसी लूट खसोट देख कर मेरी ऐसी आत्मा तड़प रही है। गांव और मेरे क्षेत्र के गरीब लोग इलाज को आ रहे हैं, जिन पर साधन नहीं है उन्हें कैसे लूटा जा रहा है, जब हम जैसे लोगों के साथ ऐसा हो रहा है तो उनके साथ क्या हो रहा होगा।

मैं इस मुद्दे पर पीछे नहीं हटने वाली कलेक्टर से शिकायत करुंगी। मैंने डॉक्टर तोमर को कहा भी कि आप उन मैडम से बोल देते कि नॉर्मल डिलीवरी है तो मेरे साथ ऐसा ना होता। तो डॉक्टर कहने लगे कि मेरी गलती है। आरोपों की इस बौछार के दौरान पूर्व विधायक शकुंतला खटीक ने अपने हैंड पर्स से पैसों की गड्डी निकालकर भी बताई। और कहा कि ऑपरेशन की अगर कोई स्थिति बनती तो मैं पहले ही बोल देती लेकिन ऐसी कहीं से कहीं स्थिति नहीं थी, सब इस बात के साक्षी हैं।


टिप्पणियाँ
Popular posts
ग्वालियर। प्रदेश सरकार की शोषणकारी नीति के शिकार अतिथि विद्वान 96 दिन से बरसात और कड़कड़ाती ठंड में फूलबाग चौराहे ग्वालियर मे कर रहे आंदोलन , सरकार का ध्यान नहीं।
चित्र
ग्वालियर।नवागत कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कार्य भार संभाला।तहसीलदार से अपर कलेक्टर तक पहुंचे एचपी शर्मा का ग्वालियर से आजतक ताबदला क्यों नहीं ।एक ही जिले मे रिटायरमेंट तक रहेंगे क्या।
चित्र
ग्वालियर/छतरपुर- पशु चिकित्स ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह की महिला के साथ किया गलत काम, जेल में सजा कटने के बाद विभाग ने नहीं किया निलंबित विभागों के अधिकारियों एवं नेताओं के आशीर्वाद से पशु डाक्टर धड़ल्ले से कर रहा है नौकरी । पंडित महिला न्यायालय में दर दर भटक रही है।
चित्र
डबरा।विधायक सुरेश राजे सहित अनेक समाज सेवीयो ने दी जननायक समाज सेवी स्व श्री इन्द्र सिंह राजौरिया को श्रद्धांजलि ।
चित्र
जाटव समाज का इतिहास, जाटव यदुवंशी है ।
चित्र