गंजबासौदा। फरियादी को ही आरोपी बनाया बासोदा पुलिस ने भीड़ त्रंत्र के आगे झुका प्रशासन क्या संविधान से अलग हो गया कानून।
गंजबासौदा। सात साल पहले खरीदे प्लाट का कब्जा मांगने पर स्थानीय पुलिस गंजबासौदा ने फरियादी महेश नामदेव को एक विशेष  समाज के दबाब मे 306 का आरोपी बना दिया क्या म.प्र. में प्लाट खरीदना गुनाह हे 
या खरीद लिया तो कब्जा लेना अपराध है।अगर नहीं तो जिस थाने के लिए एस डी एम रोशन राय गंजबासौदा ने गरीब महेश नामदेव ,प्रवीण जैन को 8 बाय16 के प्लाट पर कब्जा दिलाने थाना प्रभारी वीरेंद्र सिंह चौहान को कब्जे दिलाने का आदेश  दिया गया। वहीं फरियादीयो ने एक माह पहले से ही थाने के चक्कर काटे गुहार लगाई ।लेकिन उल्टा पुलिस ने आवेदक के प्लाट खरीदने वाले लोगों पर बिना जांच किए ही प्रकरण दर्ज कर दिया। बुलाकर फरियादी को ही जेल भेज दिया आखिर कानून समाजवाद पर चल रहा है या संविधान पर जांच होनी चाहिए और निर्दोष फरियादीयो से प्रकरण हटाये जायें सीआईडी व उच्च अधिकारियों से जांच कर  झूठे मुकदमे दर्ज कराई जाने वाले लोगों पर मुकदमा दर्ज हो ।
टिप्पणियाँ